चंदौली: लम्पी स्किन बीमारी की रोकथाम हेतु पशुपालकों के लिए आवश्यक सुझाव
चंदौली: लम्पी स्किन बीमारी की रोकथाम हेतु पशुपालकों के लिए आवश्यक सुझाव

चंदौली। पशुओं में तेजी से फैल रही लम्पी बीमारी के प्रभावी रोकथाम एवं जागरूकता के सम्बंध में बताते हुए जिलाधिकारी ईशा दुहन ने पशुओं को लम्पी स्किन बीमारी से बचाने हेतु पशुपालकों/जनसमान्य से अपील करते हुए कहा कि यदि किसी पशु में बीमारी के लक्षण दिखते हैं, तो तत्काल निकटतम पशु चिकित्साधिकारी को सूचित करें। प्रभावित पशु को अलग रखे, प्रभावित पशु का आवागमन प्रतिबंधित करें।


लम्पी स्किन बीमारी की रोकथाम हेतु पशुपालकों के लिए आवश्यक सुझाव

1- यह बीमारी एक संक्रामक रोग विषाणु जनित बीमारी है , यह बीमारी गोवंशीय एंव महिषवंशीय पशुओं में पायी जाती है।

( 1 ) वर्तमान में जनपद चन्दौली के बाहर गोवंश जाने एंव चन्दौली में बाहर से गोवंश आने पर पूर्णत्या प्रतिबन्धित कर दिया गया है । अतः रोग के रोकथाम हेतु कडाई से पालन सुनिश्चित करें ।

 ( 2 ) रोग का संचरण / फैलाव / प्रसार पशुओ में मक्खी , चिचडी एंव मच्छरों के काटने से होता है ।


 3- लम्पी स्किन बीमारी के मुख्य लक्षण

 ( 1 ) पशुओ में हल्का बुखार होना , पूरे शरीर पर जगह - जगह नोड्यूल / गाठो का उभरा हुआ दिखाई देना ।

 ( 2 ) बीमारी से ग्रसित पशुओं की मृत्यु दर अनुमान 1 से 5 प्रतिशत होना ।


 4- बीमारी के रोकथाम एंव नियंत्रण के उपाय

 ( 1 ) बीमारी से ग्रसित पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखना ।

 ( 2 ) पशुओ में बीमारी को फैलाने वाले घटकों की संख्या को रोकना अर्थात पशुओं को मक्खी , चिचडी एंव मच्छर के काटने से बचाना , पशुशाला की साफ - सफाई दैनिक रूप से करना तथा डिसइन्फैक्शन का स्प्रे करना ।

 ( 3 ) संकमित पशुओं को खाने के लिए संतुलित आहार तथा हरा चारा दे । 

( 4 ) मृत पशुओं के शव को गहरे गड्ढे में दबाया जाना ।

5- संक्रमण से बचाव हेतु -


(1) आवलॉ, अश्वगन्धा, गिलोय एंव मुलेठी में से किसी एक को 20 ग्राम की मात्रा में गुड़ मिलाकर सुबह शाम लड्डू बनाकर खिलाये अथवा तुलसी के पत्ते एक मुट्ठी , दालचीनी 05 ग्राम सोठ पाउडर 05 ग्राम , काली मिर्च 10 नग को गुड़ में मिलाकर सुबह शाम खिलाये । 
(2) संक्रमण रोकने के लिए पशु बाड़े में गोबर के कण्डे में गूगल , कपूर , नीम के सूखे पत्ते , लोबान को डालकर सुबह शाम धुआँ करें । 
(3) पशुओं के स्नान के लिए 25 लीटर पानी में एक मुट्ठी नीम की पत्ती का पेस्ट एंव 100 ग्राम फिटकरी मिलाकर प्रयोग करे । घोल के स्नान के बाद सादे पानी से नहलाये ।

6- संक्रमण होने के बाद देशी

औषधि व्यवस्था-

नीम के पत्ते एक मुट्ठी , तुलसी के पत्ते एक मुट्ठी , लहसुन की कली 10 नग लौग 10 नग , काली मिर्च 10 नग जीरा 15 ग्राम हल्दी पाउडर 10 ग्राम पान के पत्ते 05 नग , छोटे प्याज 02 नग पीसकर गुंड में मिलाकर सुबह शाम 10-14 दिन तक खिलायें । 


 7- खुले घाव के देशी उपचार : -

नीम के पत्ते एक मुट्ठी , तुलसी के पत्ते एक मुट्ठी , मेहंदी के पत्ते एक मुट्ठी लेहसुन की कली 10 हल्दी पाउडर 10 ग्राम , नारियल का तेल 500 मिली ० को मिलाकर धीरे - धीरे पकाये तथा ठण्डा होने के बाद नीम की पत्ती पानी में उबालकर पानी से घाव साफ करने के बाद जख्म पर लगाये ।


 8 – किसी भी पशु में बीमारी होने पर नजदीक के पशु चिकित्सालय पर सम्पर्क करके उपचार कराये , किसी भी दशा में बिना पशु चिकित्सक के परामर्श के कोई उपचार स्वंय न करें ।
 

9. दिनांक 19.09.2022 से जनपद में लम्पी स्किन बीमारी सी बचाव हेतु पशुपालन के कर्मियों द्वारा अभियान चलाकर गोवंशीय पशुओं को टीका निः शुल्क लगाया जा रहा है । 

सभी पशुपालक अपने पशुओं को टीका अवश्य लगवायें । कन्ट्रोल रूम का नम्बर -05412262197 , 9792961830 , 8840688479 है ।

Raju Srivastava Death: नहीं रहे मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव! महीनों से थे एम्स में भर्ती...

चंदौली: जिलाधिकारी ने नीति आयोग के कार्यक्रमों के प्रगति की बैठक कर की समीक्षा

Chandauli: Strict instructions given to maintain better progress on the set standards

चंदौली। जिलाधिकारी श्रीमती ईशा दुहन ने नीति आयोग के इंडिकेटर्स की प्रगति की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट कक्ष में संपन्न हुई। बैठक के दौरान स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, कृषि, कौशल विकास, बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर, वित्तीय समावेशन आदि विषयों के इंडिकेटर्स की प्रगति पर संबंधित अधिकारियों से विभागवार समीक्षा बैठक की। 

बैठक के दौरान नौगढ़ क्षेत्र में टमाटर, सब्जी आदि की मार्केटिंग हेतु सुदृढ़ व्यवस्था कराए जाने के निर्देश जिला उद्यान अधिकारी एवं जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिए। कम वजन के पैदा होने वाले बच्चों के पीछे के कारणों की जांच कराकर उसके समाधान पर कार्य करने की आवश्यकता पर बल दिया।

चिन्हित कुपोषित बच्चों के समुचित पोषण एवं अति कुपोषित बच्चों को आवश्यकता अनुसार पोषण पुनर्वास केंद्रों में भर्ती कराकर पोषण एवं इलाज कराने के निर्देश दिए। कहां कि अधिक से अधिक संस्थागत डिलीवरी सुनिश्चित हो साथ ही प्रधानमंत्री जननी सुरक्षा योजना सहित अन्य शत प्रतिशत लाभार्थियों को समय से डीबीटी के माध्यम से भुगतान कराना सुनिश्चित करें।

आंगनबाड़ी केंद्रों के सुदृढ़ीकरण हेतु समुचित प्रपोजल बनाकर उपलब्ध कराने के निर्देश जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास को दिए। महिलाओं एवं बच्चों का पोषणहार वितरण के साथ उसके उपयोग पर विशेष ध्यान दिए जाने के निर्देश दिये।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि टी.वी. मरीजों की नियमित मॉनिटरिंग कर समय से निर्धारित दवाएं खिलाई जाए जिससे रूप पर प्रभावी नियंत्रण पाया जा सके इसके लिए अधीनस्थों को लगातार मरीजों से संपर्क बनाए रखने व दवा मुहैया कराने हेतु निर्देशित किया।

वित्तीय समावेशन लक्ष्य के अनुसार बेहतर प्रवृत्ति सुनिश्चित रखें। बैंक कैंप लगाकर वित्तीय पोषित योजनाओं का प्रचार प्रसार के साथ ही लोन वितरण का कार्य लक्ष्य के सापेक्ष अवश्य करें। समस्त बैंक इसमें अपना पूर्ण सहयोग करें। गरीबों के आर्थिक आय में वृद्धि हेतु बैंक भरपूर करें सहयोग। 

बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री अजीतेंद्र नारायण, मुख्य चिकित्साधिकारी, उपनिदेशक कृषि, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी बाल विकास, जिला सेवायोजन अधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

चंदौली में रेलवे सुरक्षा बल के स्थापना दिवस के अवसर पर आरपीएफ ने किया रक्तदान

दिनांक 20/09/2022 को रेलवे सुरक्षा बल स्थापना  दिवस के उपलक्ष्य में सहायक सुरक्षा आयुक्त डीडीयू एच् एन राम के निर्देशन में  पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल के आरपीएफ रिज़र्व लाइन में  कमलापति त्रिपाठी जिला अस्पताल, चंदौली के ब्लड बैंक टीम के सहयोग से रक्त दान शिविर लगाया गया। 

रक्त दान शिविर का शुभारंभ मुख्य अतिथि मंडल रेल प्रबंधक/डीडीयू राजेश पांडेय द्वारा फीता काट कर किया गया, साथ ही मुख्य अतिथि द्वारा रक्त दान करने वाले बल सदस्यों का हौसला अफजाई किया गया।

पंडित दीन दयाल उपाध्याय मंडल के सभी आरपीएफ थानों डीडीयू यार्ड मनासनागर, डेहरी ऑन सोन, रफीगंज,गया जपला से बल सदस्यों द्वारा स्वैछापूर्वक रक्त दान शिविर में भाग लिया गया एवम ब्लड डोनेट किया। रक्त दान करने वाले डीडीयू मंडल बल सदस्यों की संख्या 23 है।

इसके पूर्व स्थापना दिवस के अवसर पर पौधरोपण, स्वच्छ्ता अभियान औऱ रन फ़ॉर यूनिटी का आयोजन  आरपीएसएफ़ और आरपीएफ के अधिकारीगण एवं बल सदस्य द्वारा किया गया।

इस दौरान निरीक्षक संजीव कुमार, राम विलास ,श्याम विहारी दिवेदी,रंजीत कुमार, आर के कछवाहा ,उप निरीक्षक सुनील कुमार,उप निरीक्षक अश्विनी कुमार, महिला आरक्षी संगीता कुमारी ,अनामिका विस्वास एवम अन्य अधिकारीगण व जवान उपस्थित रहे।

Share this story