×

चंदौली में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन, बैंक संबंधित योजनाओ की दी जानकारी

चंदौली में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन, बैंक संबंधित योजनाओ की दी जानकारी 

भारतीय रिजर्व बैंक, कानपुर के तत्वाधान में एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन कृषि विज्ञान केंद्र, बिछिया कला, चंदौली में किया गया। उक्त कार्यक्रम का आयोजन यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के सहयोग से किया गया। कार्यक्रम का संचालन श्री एस के दास श्री मयंक अवस्थी, श्री अभिनव वर्मा, श्री अंशुल यादव और श्री प्रसून सिंह द्वारा किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत श्री मयंक कुमार अवस्थी (आरबीआई लोकपाल प्रतिनिधि) ने प्रतिभागियों और बैंक अधिकारियों का स्वागत करते हुए की। इसके बाद रिजर्व बैंक एकीकृत लोकपाल योजना एवं आरबीआई कम्प्लेंट मैनेजमेंट सिस्टम (सी एम एस) पोर्टल के संबंध में श्री अंशुल यादव (आरबीआई लोकपाल प्रतिनिधि) ने प्रतिभागियों को जानकारी दी। उन्होंने अपने उद्बोधन में आर.बी.आई. लोकपाल योजना 2021 के महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तृत चर्चा की गयी।

उन्होंने आर. बी. आई. लोकपाल योजना 2021 को पूर्व में लागू योजना से तुलना करते हुए इसके फायदे बताऐं। इसके उपरांत श्री एस. के. दास, उप. लोकपाल, भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया की उक्त योजना के अंतर्गत बैंकों द्वारा दी गई सेवाओं से संबंधित शिकायतों का समाधान निष्पक्ष और शीघ्रता से और न्यूनतम लागत के साथ किया जाता है तथा शिकायत को एक तर्क संगत समय सीमा के अंतर्गत निस्तारित किया जाता है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

इसी क्रम में श्री दास ने विभिन्न बैंकिंग सेवाओं जैसे पेंशन, ऋण और अग्रिम, डेबिट कार्ड जैसे विशिष्ट क्षेत्रों पर लेन-देन, नेट बैंकिंग, धोखाधड़ी के माध्यम से निकासी / स्थानांतरण एटीएम यूपीआई लेन-देन, एफ. डी. आर. संबंधित मुद्दे, KCC ऋण, ऋण में सब्सिडी शिक्षाऋण आदि के विषय पर विस्तृत चर्चा की। इस कार्यक्रम में लगभग 150 सहभागियों (बैंक ग्राहकों और विद्यार्थियों) ने भाग लिया।

कार्यक्रम में एक प्रश्नोत्तर सत्र का आयोजन किया गया। सहभागियों द्वारा कई सवाल पूछे गए जिनमें श्रोताओं की बैंकिंग समस्याओं पर भी प्रश्न मिले थे। सभी प्रश्नों के उत्तर उप आरबीआई लोकपाल द्वारा दिये गए। विभिन्न प्रश्नों पर बैंक अधिकारियों द्वारा बैंकिंग सेवाओं से संबन्धित प्रश्नों के सन्तोषजनक उत्तर भी दिये गए।

प्रतिभागियों के बीच आरबीआईओएस से संबंधित पर्चे और पुस्तिकाएं भी वितरित की गई। कार्यक्रम के दौरान, प्रतिभागियों से फीडबैक फॉर्म एकत्र किए गए।

Share this story