बीजेपी MLA रविंद्र त्रिपाठी ने अपने इस्तीफे को बताया गलत, वायरल लेटर पैड को लेकर कही ये बात
bjp mla

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के अपने पद से इस्तीफे के बाद कई विधायक समाजवादी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. इसी बीच भदोही से बीजेपी विधायक रविंद्र त्रिपाठी से जुड़ा एक लेटर पैड वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि उन्होंने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है. हालांकि, अब खुद बीजेपी विधायक ने इसपर अपनी सफाई दी है.

यूपी में व‍िधानसभा चुनाव के ऐलान के साथ दल-बदल का स‍िलस‍िला शुरू हो गया है। योगी आद‍ित्‍यनाथ सरकार के दो कैबिनेट मंत्री बीजेपी छोड़ने का ऐलान कर चुके हैं। इस बीच भदोही विधानसभा से बीजेपी विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी के इस्‍तीफे का लेटर वायरल हो गया। इस पर बीजेपी व‍िधायक ने वायरल लेटर को फर्जी बताते हुए कहा है क‍ि यह क‍िसी की साज‍िश है। वह बीजेपी में ही हैं और वहीं रहेंगे। उन्होंने जांच के लिए कोतवाली में तहरीर दी।

दरअसल भदोही के बीजपी विधायक रविंद्र नाथ त्रिपाठी के इस्तीफे का पत्र मंगलवार की देर रात सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिससे राजनीतिक गलियारे में हलचल मच गई। पत्र वायरल होने की जानकारी पाकर बुधवार को विधायक ने इसका खंडन किया। उन्होंने कहा कि भाजपा के लिए उनके खून का एक-एक कतरा समर्पित है। उनके लैटरपैड का दुरूपयोग किया गया है। उन्होंने जांच के लिए कोतवाली में तहरीर दी।


 

वायरल हो गया था लेटरपैड पर लिखा इस्तीफा

कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य सहित आधा दर्जन विधायकों के इस्तीफा देने से मंगलवार को पूरे दिन प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ी रही और देर रात रविंद्रनाथ त्रिपाठी के लेटरपैड से इस्तीफे का पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो गयाबता दें कि बीजेपी विधायकों के इस्तीफे का दौर जारी है. आज यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. वे मऊ जिले की मधुबन विधानसभा सीट से विधायक हैं. दारा सिंह चौहान बीएसपी और सपा में रह चुके हैं. सबसे पहले बीएसपी से एमएलसी रहे, फिर राज्यसभा गए. बाद में बीएसपी छोड़ सपा में आए और घोसी सीट से सांसद बन गए. साल 2014 में लोकसभा चुनाव हारने के बाद वो 2017 में बीजेपी में आए और मऊ ज़िले की मधुबन सीट से विधायक बन मंत्री बने.


 

Share this story