पूर्वांचल में विवाह से पहले भतीजी को लेकर चाचा फरार, परिजनों ने की धुनाई, फिर जो हुआ...
वीवीवी

उत्तर प्रदेश। जौनपुर जिले के रिश्ते को शर्मशार करने वाला  के ऐसा मामला सामने आया है। जहाँ चाचा को  अपने ही  भतीजी से प्यार हो गया। परिजनों को पता चला तो युवक को नौकरी करने के लिए बाहर भेज दिया गया। इधर, कुछ माह बाद युवती की शादी तय कर दी गई। शनिवार को युवती की गोदभराई की रस्म हुई।


इस बात की जानकारी के बाद युवक गांव पहुंचा और युवती यानी अपनी भतीजी को लेकर फरार हो गया। हालांकि कुछ ही घंटे में दोनों के परिजनों ने उन्हें ढूंढ निकाला। युवक की जमकर धुनाई की। दोनों के परिजनों में विवाद हो गया। सूचना पर पुलिस पहुंची। घंटों पंचायत चली। दोनों शादी की जिद पर अड़े रहे। ऐसा ना होने पर खुदकुशी की धमकी दी।

अंत में प्रधान और पुलिस के समझाने पर दोनों के परिजन विवाह के लिए राजी हो गए। सोमवार को चाचा-भतीजी की शादी कर दी गई। मामला मछलीशहर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का है। क्षेत्र के एक गांव में दलित बस्ती के एक युवक को रिश्ते की भतीजी से प्यार हो गया था। दोनों के परिजनों को मामले की जानकारी होने पर भारी विरोध हुआ। युवक को चंडीगढ़ कमाने के लिए भेज दिया गया।


युवती की शादी सिकरारा थाना क्षेत्र के एक गांव मे तय कर दी गई। इसी बीच शनिवार को युवती की गोदभराई रस्म हुई। गोदभराई की सूचना चंडीगढ़ में जब प्रेमी चाचा को लगी तो वह तुरंत ट्रेन में सवार होकर घर पहुंच गया। घर से गोदभराई के बाद देर रात प्रेमिका को लेकर फरार हो गया।

युवती की भागने की सूचना परिजनों को लगते ही दोनों की खोजबीन में लग गए। रविवार सुबह दोनों को बगल गांव के  एक घर से बरामद किया गया। युवक के साथ मारपीट की गई। घटना की सूचना पर पहुंचे प्रधान ने दोनों पक्षों को समझाया। सूचना कोतवाली पुलिस को दी। मौके पर पहुंची 108 नंबर पुलिस दोनों को लेकर कोतवाली पहुंची।

कोतवाली में भी दोनों के परिजनों में काफी बहस हुई। अंत में प्रधान व पुलिस के समझाने पर दोनों के परिजन विवाह के लिए राजी हो गए। मामले इस संबंध में वरिष्ठ उपनिरीक्षक राम प्रवेश कुशवाहा ने बताया कि मामला कोतवाली में आया था, लेकिन दोनों के परिजन विवाह के लिए राजी हो गए।  इसलिए कोई विधिक कार्यवाही नहीं हुई है।

Share this story