×

Ayodhya News:साधुवेशधारी भू माफियाओं के विरुद्ध संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज

xx

 

 

Ayodhya News: सूत्रों के मुताबिक चारसौबीसी जालसाजी धोखाधड़ी कर कूट रचित दस्तावेज तैयार कर मंदिर के मृतक पुजारी बजरंग दास चेला बलराम दास का फर्जी हस्ताक्षर बना कर मंदिर की संपत्ति कब्जा करने की साजिश रची थी और जब पीड़ित चन्दाबाबा ने आलाअधिकारियों से शिकायत की तो सत्ता पक्ष के दबाव में उनकी फरियाद नही सुनी गई तो न्यायालय से न्याय की गुहार लगाई माननीय न्यायालय ने सबूतों और  साक्ष्यों के आधार पर साधुवेशधारी भू माफियाओं के खिलाफ चारसौबीसी जालसाजी धोखाधड़ी तथा आपराधिक साजिश रचने जैसी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज करने का आदेश कैंट थाने के प्रभारी निरीक्षक को दिया।

तब जाकर मंदिर की संपत्ति कब्जा करने व अपराधिक साजिश रचने  जैसी गम्भीर धाराओं  में अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्री आमिर सुहेल  की अदालत ने कैंट थाने  में मुकदमा दर्ज करने का आदेश थाना प्रभारी को दिया है जिसके अनुपालन में पीड़ित  महन्थ चतुर्भुज दास उर्फ चन्दाबाबा पंचमुखी हनुमान मंदिर निवासी सदर बाजार  कैंट थाना निवासी के द्वारा दी गयी।तहरीर पर  मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है।

जिसमे आरोपी गण अयोध्या जानकीघाट निवासी राम बल्लभाकुंज के बहुचर्चित अधिकारी  राज कुमार दास चेला देव राम दास बेदान्ती व मणि राम दास छावनी के श्रीमहंत नृत्य गोपाल दास महराज के उत्तराधिकारी महन्थ कमल नयन दास व महन्थ विमल कृष्ण दास चेला कमल नयन दास निवासी पंचमुखी हनुमान मंदिर गुप्तारघाट अयोध्या व उनके सहयोगी वीरेंद्र नाथ राय पुत्र केदारनाथ राय निवासी बेगमगंज गढ़ैया कोतवाली अयोध्या व संजय यादव पुत्र हरि शंकर यादव निवासी शिव कालोनी रेतिया कैंट अयोध्या  के विरुद्ध धारा 420 467 468 471 व 120 बी आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज हुआ जिससे साधुवेशधारी भू माफियाओं में हड़कम्प मच गया है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

महन्थ चतुर्भुज दास उर्फ चन्दाबाबा ने इन सभी पर आरोप लगया  है कि थाना कैंट अंतर्गत गुप्तारघाट स्थित लक्ष्मी नरसिंह मंदिर पर इन्ही आरोपियों के द्वारा गुंडागर्दी के बल पर  अवैध कब्जा कर लिया गया तथा जानलेवा हमला भी कराया गया।

जिससे उनके हाथ पैर टूट गया था उनके हमले का वीडियो भी वायरल हुआ था चन्दाबाबा ने बताया कि आरोपी गण इतने शातिर है कि वे मृतक महन्थ  सहित 10 अन्य  गवाहों के फर्जी हस्ताक्षर बना कर  कूट रचित महज्जरनामा तैयार कर  डिप्टी रजिस्टार कार्यालय में 26 दिसम्बर 2022 को रजिस्टर्ड करवा लिया था न्यायालय के एक्शन से आरोपियों में दहशत फैल गयी है पीड़ित चन्दाबाबा ने  सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी महाराज व एस एस एस अयोध्या से अभियुक्तों की गिरफ्तारी कर जेल के सलाखो में भेजने की मांग की है।

Share this story