×

Ayodhya News: भगवान रामलला का दर्शन कर मुदित हुए विदेश में बसे भारतीय एनआरआई भारतीयों ने श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में बढ़चढ़कर लिया हिस्सा

xzxz


Ayodhya News: भगवान रामलला का दर्शन कर मुदित हुए विदेश में बसे भारतीय एनआरआई भारतीयों ने श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में बढ़चढ़कर लिया हिस्सा

श्रीराम मंदिर में भगवान श्रीराम लला की प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में एनआरआई भारतीयों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। जिसमें साउथ गुजरात व्यारा के सांकली गांव के वतनी और हांगकांग, चीन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया आदि देशों में बसे डेलीगेट विशेष रूप से प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में भाग लेने के लिए अयोध्या पहुंचे। अपने आराध्य भगवान श्रीराम लला का दर्शन पाकर विदेश में बसे भारतीय गदगद हैं। अपने जीवन को धन्य बता रहे हैं।


भगवान का दर्शन करने के बाद सोहन गोयनका, राज कुमार सबनानी, सुरेश पंसारी, आशा गोयनका, मंजू पंसारी, रमेश चंद्र शर्मा, राजेश शर्मा, सीमा शर्मा, पवन सराफ, मनमोहन गोयनका, प्रमिला गोयनका, लता अहीर, मनोज असवानी, संजय जलान, राजश्री जलान, संजय खेमानी, उषा खेमानी, दिलीप पीरामल, सत्येन दलाल, प्रशांत अग्रवाल आदि ने बताया कि हम सभी के जीवन का पुण्य जागृत हुआ है। हम सभी अपनी आंखों से मंदिर बनते हुए देखे और मंदिर में विराजमान भगवान का दर्शन भी मिला।

fd

व्यारा के सांकली गांव के सोहन गोयनका ने कहा कि करोड़ों भारतीय वर्षों से इस पावन दिन के लिए संघर्ष कर रहे थे और हम सभी विदेशों में बसे भारतीय और भारतवासियों ने सभी संभव योगदान के साथ इस संघर्ष में शामिल रहे। वर्ष 2017-18 में हम सभी ने तत्कालीन राष्ट्रपति महामहिम रामनाथ कोविद एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व अमित शाह से मुलाकात की और श्रीराम मंदिर निर्माण में यथा संभव योगदान दिया।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

आज हम सभी बेहद हर्ष व श्रद्धा के साथ अयोध्या आए हैं और बेहद प्रसन्न हैं कि राम मंदिर का निर्माण के बाद 500 वर्षों का संघर्ष आज ख़त्म हुआ है।   


     जिसमें हांगकांग, अमेरिका, सिंगापुर, जापान, थाईलैंड और यूरोप के कई देशों से आए हुए एनआरआई अयोध्या में पहुंचकर जय श्री राम के नारे लगाते हुए राम मंदिर और हनुमानगढ़ी पर पहुंचे और अपने आराध्य भगवान श्रीराम लला की भक्ति में भजन-कीर्तन में लीन रहे।

Share this story