×

Ayodhya News: एसडीएम बीकापुर के तानाशाही से आक्रोशित वकीलों ने सभी न्यायालय का किया बहिष्कार

Ayodhya News: एसडीएम बीकापुर के तानाशाही  से आक्रोशित वकीलों ने सभी न्यायालय का किया बहिष्कार

Ayodhya News: एसडीएम बीकापुर के तानाशाही  से आक्रोशित वकीलों ने सभी न्यायालय का किया बहिष्कार
 

बीकापुर के बार और बेंच में ताल मेल बैठने का नाम नहीं ले रहा है जबकि बार और बेंच के बीच में कई चक्कर वार्ताएं भी हो चुकी हैं आज अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष आबाद अहमद के समक्ष तहसील के सैकड़ो अधिवक्ताओं ने एसडीएम के तानाशाही रवैया के अलावा अन्य कई बिंदुओं पर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष व मंत्री के साथ बीकापुर तहसील के सैकड़ो अधिवक्ताओं ने वार्ता कर सभी न्यायिक कार्यालयों का शुक्रवार से सोमवार तक का बहिष्कार घोषित किया था।

आज दिनांक 16 मार्च 2024 को पूर्व निर्धारित एजेंडे के अनुसार उपजिला अधिकारी कार्यालय/ न्यायालय के निकट बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने बिना सुने हजारों मुकदमे की पत्रावलिया खारिज किए जाने और तहसील में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर धरना सभा किया कार्यक्रम की अध्यक्षता बार एसोसिएशन के अध्यक्ष आबाद अहमद खान एवं संचालन पूर्व अध्यक्ष ओम प्रकाश तिवारी एवं वरिष्ठ अधिवक्ता आसाराम निषाद ने संयुक्त रूप से किया धारणा को संबोधित करते हुए बार एसोसिएशन अध्यक्ष आबाद अहमद खान ने कहा कि देवरिया कांड के बाद प्रदेश सरकार के राजस्व मुकदमे के गुणवत्तापूर्ण सीघ्र निस्तारण की आड़ में संबंधित अधिकारियों ने बडकरी जनता का गला काट दिया हजारों की तादाद में विभिन्न राजस्व न्यायालय की पत्रावलियों को दोनों पक्षों को बिना सुने खारिज कर दिया उन्होंने आरोप लगाया की आई एस/उप जिला अधिकारी की संवेदना के कारण तरीके से बादकारी जनता का मुकदमा कादत किया जा रहा है।

नियत तिथि पूर्व ही बिना सुने मुकदमे अदम पैरवी में खाली किये जा रहे हैं। इसे दुर्भाग्य पूर्ण बताते हुए कहा कि जनता को सर्वोच्च अधिकारियों से ऐसी उम्मीद नहीं की जाती है उन्होंने तहसील के विभिन्न अदालतों पर व्याप्त भ्रष्टाचार और समस्याओं के समाधान पर सोमवार तक कोई प्रभावी पहल नहीं की जाती है तो सोमवार की 11:00 से पुन: धरना सभा किया जाएगा।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

अधिवक्ताओं को संबोधित करते हुए अध्यक्ष श्याम नारायण पांडे ने कहा कि आजादी की लड़ाई से लेकर वर्तमान समय तक अधिवक्ताओं का स्वर्णिम इतिहास अन्याय के खिलाफ अधिवक्ता आरपार की लड़ाई लड़ेगा एवं मंत्री ब्रह्मानंद मिश्र ने कहा कि हजारों की तादाद में खारिज मुकदमे का वाजदायर न्यायालय पर ऑनलाइन नहीं दर्ज किया जा रहा है  अधिकतर पत्रावलियां के तिथि नियत कर दी जाती हैं।

और यह मुकदमे ऑनलाइन खारिज है पूर्व अध्यक्ष ओमप्रकाश तिवारी ने यह कहा कि सरकार और उच्च न्यायालय की जनता की सुलभ न्याय दिलाने की मंशा को बीकापुर के अधिकारी तारतार कर रहे हैं जबकि पूर्व अध्यक्ष राम तेज वर्मा ने कहा कि आज़ादीपुर आईसीएस पदों के लोग जनता की समस्याओं को प्राथमिकता देते थे लेकिन वर्तमान अधिकारी जनता का शोषण कर रहे हैं अधिवक्ता आक्रोशित दिखे आक्रोश व्यक्त करते हुए अधिकार अधिवक्ताओं ने कहा कि जब तक न्यायिक प्रक्रिया कानूनी रूप से नही चलाई जाती तब तक न्याय कार्यों में सहयोग किया जाना संभव नहीं है।

धरना सभा को पूर्व अध्यक्ष तुलसीराम तिवारी शेख मोहम्मद इशाक उमेश प्रसाद पांडे ओमप्रकाश यादव बैजनाथ यादव लश्करी प्रसाद पांडे श्याम मनोहर पांडे राम सजीवन पांडे प्रमोद शर्मा मोइनुद्दीन रामनयन सिंह चंद्रभूषण दुबे के अलावा वरिष्ठ अधिवक्ता राम जगत तिवारी अवध राम यादव मोहम्मद शोएब सदानंद पाठक बृजेश तिवारी अरुण मिश्रा आलोक सिंह भीम उपाध्याय राधेश्याम गौड़ अमरनाथ दुबे अनंत नारायण पांडे सुरेंद्र कुमार पांडे अशोक मिश्रा कालिंदी पाल अमरजीत श्रीकांत तिवारी राजेश चंद्र पाठक अवधेश सिंह महेश यादव मनोज यादव उमेश चंद्र पांडे मंसाराम वर्मा दिनेश कुमार पांडे पुष्पेंद्र कुमार मैस आज या अधिवक्ता व तमाम बादकारी जनता सैकड़ो की संख्या में धरना सभा में मौजूद रहे। पूर्व नियोजित धरना सभा के कार्यक्रम पर गिद्ध दृष्टि बीकापुर के एलआयु इंस्पेक्टर डॉक्टर बी त्रिपाठी कार्यक्रम समापन तक मौजूद रहे। तथा यथा स्थिति से संबंधित अधिकारियों को अवगत कराते रहे।

Share this story