अयोध्या में रुदौली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, अंतर्ररज्जीय घुमंतू चोरों का गिरोह भारी मात्रा में चोरी के सामान के साथ गिरफ्तार
अयोध्या में रुदौली पुलिस को मिली बड़ी सफलता, अंतर्ररज्जीय घुमंतू चोरों का गिरोह भारी मात्रा में चोरी के सामान के साथ गिरफ्तार

भेलसर(अयोध्या)। कोतवाली रुदौली की पुलिस ने अंतर्ररज्जीय घुमंतू चोरों के गिरोह को भारी मात्रा में चोरी के सामान के साथ गिरफ्तार किया है।


क्षेत्राधिकारी रूदौली संदीप कुमार सिंह ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक शशिकान्त यादव के नेतृत्व में उपनिरीक्षक लल्लन सिंह राठौर,रवीश कुमार यादव,प्रमोद कुमार यादव,राम राज चौधरी,राजेश यादव,पिंटू यादव,हेमंत यादव,महिला कांस्टेबल स्वेता यादव,महिला कांस्टेबल सरिता गुप्ता,हेड कांस्टेबल अजय सिंह,हेड कांस्टेबल अश्वनी राय,मुकेश यादव,प्रिय तिवारी,विनय कुमार राय,अंकित कुमार राय,अजीत गुप्ता,कॉन्स्टेबल शिवम यादव,सचिन शर्मा,उप निरीक्षक अमरेश त्रिपाठी,कॉन्स्टेबल चंद्रभान यादव,सुनील यादव मय पुलिस बल के द्वारा दिनांक 13.09.2022 चेकिंग के दौरान लखनऊ हाईवे भेलसर ओवरब्रिज के पास से सरवान पुत्र भास्करन,कुमार पुत्र रमैया,मरियामा पत्नी नायडू,नंदनी पत्नी काली पुत्री राजू तराना नायडु,ऑलमेल पत्नी तराना उर्फ राजू,उलगम्मा पत्नी स्वर्गीय परमशिवा को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से 4 लैपटॉप,अलग अलग कंपनी के 46 एंड्रॉयड मोबाइल ₹68000 नगद,जेवर पीली धातु एक मंगलसूत्र,मटर माला,लाकेट,चारदाना,2 नाक की कील,3 जोड़ी कान के टब,2 अंगूठी व जेवर सफेद धातु 7 जोड़ी पायल,3 गले की जंजीर,एक मटर माला,तीन अंगूठी,15 बिछिया बरामद किया गया।

यह सभी अंतर्ररज्जीय गिरोह हैं।इनके द्वारा बस स्टैंड,मंदिर,मेलो,बारात घरों में दिन रात रैंकि कर व्यक्तियों और दुकानों को चिन्हित करके रात्रि के समय में सेंध लगाकर चोरी करते थे तथा खाने-पीने के सामान में नशीला पदार्थ मिलाकर के उन्हें बेहोश करके उनका सामान चोरी कर लेते थे। गिरफ्तार किये गए सभी आरोपी थाना नवापुर जनपद महाराष्ट्र व तमिलनाडु के हैं निवासी है।

सामानों में मोबाइल रुपया जेवर कपड़े व कीमती सामान को निकालकर से सामान नदी नाले व सुनसान जगहों में फेंक देते हैं शहर रोड के किनारे पार्किंग हुआ अन्य जगहों पर खड़ी गाड़ियों का शीशा का गेट खुला होने पर कार के सामान चुरा कर तुरंत अपने गिरोह के पुरुष और महिलाओं को दे देते हैं ताकि कोई शक न करें तथा पूछताछ की स्थिति आने पर बताते हैं बाहर से अयोध्या दर्शन करने आए हैं।

Share this story