देश संविधान से चलता है, ओवैसी के बयान से नहीं – सौमेंद्र तोमर
The country is run by the constitution, not by Owaisi's statement - Soumendra Tomar

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा एवं वैकल्पिक ऊर्जा विभाग के राज्य मंत्री डॉ. सौमेंद्र तोमर ने गुरुवार को वाराणसी में ज्ञानवापी-मां श्रृंगार गौरी केस की सुनवाई जारी रहने संबंधी अदालत के आदेश का स्वागत किया। वहीं, कोर्ट का आदेश आने के बाद एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा था कि ज्ञानवापी मस्जिद थी, है और रहेगी।

 

 

इसे लेकर डॉ. सौमेंद्र तोमर ने कहा कि यह देश संविधान से चलता है। यह देश किसी ओवैसी के बयान से नहीं चलता है। हम लोग हमेशा न्यायालय का सम्मान करते हैं। हमारी प्राथमिकता सदैव यही है कि लोकहित में निर्णय हो। 

 

उधर, लखीमपुर में नाबालिग दलित बहनों की हत्या को लेकर डॉ. सौमेंद्र ने कहा कि उत्तर प्रदेश में महाराज जी की सरकार है। यहां अपराधी बख्शे नहीं जाते हैं और उन्हें राजनीतिक संरक्षण भी नहीं मिलता है। जो अपराध करता है वह बच नहीं पाता है। लखीमपुर में भी सभी आरोपी पकड़ लिए गए हैं और कानून अपना काम कर रहा है।

कांग्रेस ने देश तोड़ा या जोड़ा, जनता जानती है

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर डॉ. सौमेंद्र तोमर ने कहा कि वह बड़े नेता हैं और मैं उनके बारे में कुछ नहीं कहना चाहता। बाकी, आप लोग जानते हैं कि देश में कांग्रेस ने लंबे समय तक राज किया है।

कांग्रेस ने अपने राज में देश जोड़ा है या तोड़ा है, यह जनता अच्छे से जानती है। वहीं, सपा विधायकों ने बुधवार को लखनऊ में धरना दिया था। इसे लेकर डॉ. तोमर ने कहा कि लोकतंत्र में सबको अपनी बात कहने का हक है। सपा और उसके मुखिया अखिलेश यादव का अपना विजन है, वह जो चाहें करें। महाराज जी की सरकार उत्तर प्रदेश की जनता के हित में काम कर रही है।

अधिकारी समय से ऑफिस पहुंच रहे हैं

मंत्री डॉ. सौमेंद्र तोमर ने कहा कि हमने और हमारे विभाग के वरिष्ठ मंत्री बीते दिनों जगह-जगह निरीक्षण कर रहे थे। हमने यह पाया कि बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मचारी समय से ऑफिस पहुंच रहे हैं।

वर्ष 2017 के बाद उत्तर प्रदेश में बिजली के क्षेत्र में अभूतपूर्व परिवर्तन आया है। उससे पहले चुनिंदा जिलों को बिजली की अच्छी सुविधा मिलती थी और गांवों के लोग तो जैसे-तैसे अपना काम करते थे। अब पूरे प्रदेश में शहरों से लेकर गांवों तक समान भाव से बिजली की आपूर्ति की जा रही है।

हरसंभाव प्रयास यही किया जा रहा है कि बिजली से जुड़ी समस्याओं का निस्तारण अधिकतम 24 से 48 घंटे में हो जाए। हम लोग दिखावे के लिए कोई काम नहीं करते हैं। हम लोग जनता की संतुष्टि के लिए काम करते हैं।

Share this story