×

Pryagraj News: मण्डलायुक्त ने मेला क्षेत्र में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी का फीता काटकर किया शुभारम्भ

dfsf

Pryagraj News: मण्डलायुक्त ने मेला क्षेत्र में सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी का फीता काटकर किया शुभारम्भ

तुलसी कथा रघुनाथ की’’ एवं स्थानीय ऐतिहासिक, सांस्कृतिक विषयक प्रदर्शनी मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की जानकारी के लिए उपयोगी सिद्ध होगी-मण्डलायुक्त

मण्डलायुक्त विजय विश्वास पंत, जिलाधिकारी श्री नवनीत सिंह चहल व मुख्य विकास अधिकारी गौरव कुमार ने शुक्रवार को माघ मेला क्षेत्र के परेड ग्राउण्ड में त्रिवेणी मार्ग पर सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के द्वारा लगायी गयी प्रदर्शनी का फीता काटकर शुभारम्भ किया। उन्होंने ‘‘तुलसी कथा रघुनाथ की’’ एवं स्थानीय ऐतिहासिक, सांस्कृतिक विषयक प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए प्रदर्शनी की सराहना की।


इस अवसर पर मीडिया से मुखातिब होते हुए मण्डलायुक्त ने कहा कि तीर्थराज प्रयाग में संगम की रेती पर सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की ओर से ‘‘तुलसी कथा रघुनाथ की’’ और ‘‘ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक’’ विषयक प्रदर्शनी में संगम नगरी प्रयागराज के धार्मिक, ऐतिहासिक स्थलों, प्राचीन व पौराणिक मंदिरों को एक स्थान पर संकलित किया गया है, जिससे मेला क्षेत्र में आने वाले श्रद्धालुगणों एवं शहर के लोग प्रयागराज के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिंक स्थलों के महत्व के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

उन्होंने कहा कि इसी पण्डाल में ‘‘तुलसी कथा रघुनाथ की’’ प्रदर्शनी लगायी गयी है, जिसमें भगवान श्रीराम के जीवन से जुड़ी घटनाओं को क्रमबद्ध ढंग से चित्रित किया गया है।

fgdg

भगवान राम के जन्म, वन गमन से लेकर उनके अयोध्या लौटने तक की सभी महत्वपूर्ण घटनाओं को बहुत ही सुंदर चित्रों के माध्यम से दिखाया गया है।

प्रदर्शनी में आने पर श्रद्धालुओं के मन में श्रद्धा का भाव जागृत होगा। यह प्रदर्शनी प्रयागराज के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक महत्व से सम्बंधित स्थलों तथा गोस्वामी तुलसी दास जी के द्वारा रचित रामकथा से सम्बंधित प्रसंगों के बारे में मेले में आने वाले श्रद्धालुओं की जानकारी के लिए उपयोगी रहेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में प्रयागराज के ऐतिहासिक, सांस्कृतिक एवं धार्मिक स्थलों का एक स्थान पर संकलन होना प्रदर्शनी के महत्व को और अधिक बढ़ाता है। इसका सफल आयोजन हर वर्ष होता रहा है।


प्रदर्शनी में बडे़ हनुमान जी, अक्षयवट, संगम, उल्टा किला, खुशरोबाग, श्रृंगवेरपुर धाम, मनकामेश्वर मंदिर, नौलखा मंदिर, इलाहाबाद विश्वविद्यालय, आनंद भवन, जैन मंदिर, तारामण्डल, भारद्वाज मुनि, ललिता देवी, नागवासुकी मंदिर सहित अन्य धार्मिक, ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक स्थलों से सम्बंधित जानकारी दिये जाने हेतु चित्र प्रदर्शनी लगायी गयी है।

मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी ने सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इसी तरह से आगे भी कार्य करते रहे।
 

Share this story