×

Gorakhpur News: कृष्ण रूक्मिणी विवाह कथा सुन श्रोता हुए हर्षित

Gorakhpur News: कृष्ण रूक्मिणी विवाह कथा सुन श्रोता हुए हर्षित

सहजनवा गोरखपुर तहसील क्षेत्र सहजनवा के घघसरा नगर पंचायत डुमरी गांव में चल रहे श्रीमद् भागवत कथा का रशापन भक्त जनों को कराया जा रहा है जिसमे सप्तम दिवस में अयोध्या धाम से पधारे आचार्य विजय नाथ महाराज ने कृष्ण रूक्मिणी विवाह का वर्णन किया ।इस दौरान वहा मौजूद भक्त जनों के मनोहारी झांकी भी निकाली गई।

आचार्य विजय नाथ जी ने बताया कि भीष्मक की पुत्री भगवती रूक्मिणी भगवान कृष्ण को अपना पति मान बैठी थी।परंतु उनके पांचों भाई कृष्ण को पसंद नहीं करते थे। और वे सब अपनी बहन का विवाह दमघोष नंदन शिशुपाल से तय कर दिए।

रूक्मिणी को पता चला तो एक पत्र लिखकर पण्डित जी से द्वारिका भेजवाया और भगवान कृष्ण कुंदनपुर आए और रुक्मिणी ने श्रीकृष्ण गले में वरमाला डाल दिया, कृष्ण रूक्मिणी का हरण कर द्वारिका चले आए और द्वारिका में ही मंगल उत्सव मनाया गया।

शिशुपाल रोता रह गया।इसलिए कहते हैं आप लक्ष्मी पिता बन सकते , लक्ष्मी पुत्र बन सकते हैं, लक्ष्मी पति नही ।जो लक्ष्मी पति बनने की चेष्टा करता है उसे शिशुपाल की तरह रोना पड़ता हैं इस अवसर पर रामदरस मिश्र, अजय द्विवेदी, नागेश्वर चौबे, धर्मेंद्र चौबे,सोनू,दिलीप,बलदेव,राज,पंकज,गौतम,देव,मारुति, नारायण,सुशीला देवी, मंजू,पुष्पा , समीक्षा, श्रद्धा, हर्षिता, अर्पिता,मोनिका ,सुमन इत्यादि श्रद्धालू सब कथा सुन झूम उठे।।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

Share this story