ब्लॉक प्रमुख पिपरौली के प्रयास से ऐतिहासिक पोखरे का होगा सुंदरीकरण
Historic Pokhre will be beautified with the efforts of Block Chief Piprauli

सहजनवा गोरखपुर।  पिपरौली बाजार में स्थित ऐतिहासिक पोखरा काफी धार्मिक रुप से महत्व रखने वाला है, काफी पहले पोखरे के चारों तरफ मंदिरों का अलौकिक छटा की वजह से इसे मिनी अयोध्या भी कहा जाता था।

 

 

लेकिन बदलते समय के साथ इसकी महत्ता को नजर लगा। जिस पोखरे में लोग स्नान ध्यान करते थे, उसमें अपशिष्ट वस्तुओं को में फेंकना शुरू कर दिए, धीरे-धीरे यह पोखरा कूड़ेदान के रूप में नजर आने लगा।

 

 


 इसकी गलती निश्चित तौर पर क्षेत्र के लोगों की ही है क्योंकि क्षेत्र के लोगों द्वारा ही उसमें अपशिष्ट वस्तु  फेंकी जाने लगी। पहले पानियों से लबालब रहने वाला ऐतिहासिक पोखरा सूख जाता है।

इसकी स्थिति काफी बदहाल हो जाती है।

                                                                                                                ब्लॉक प्रमुख 


काफी प्रयास के बाद करीब दो दशक पहले तत्कालीन सांसद राजनारायण पासी के द्वारा पोखरे के एक तरफ से सीढ़ियो का निर्माण कार्य किया गया।
इधर कुछ वर्षों से पोखरे के सुंदरीकरण के लिए तमाम लोगों द्वारा प्रयास किया गया लेकिन सबके आवेदनों पर बस आश्वासन ही मिलता रहा।

चाहे विधायक हो अथवा सांसद, जनप्रतिनिधियों की उदासीनता की वजह से इसकी स्थिति दिन-प्रतिदिन खस्ताहाल होती जा रही।


लेकिन कुछ दिनों पूर्व अखबार के माध्यम से पोखरे के बदहाली को प्रकाशित किया गया जिस पर ध्यान देते हुए पिपरौली ब्लाक प्रमुख दिलीप यादव ने इसके सुंदरीकरण का जिम्मा लिया है।

पिपरौली ब्लाक प्रमुख दिलीप यादव करीब 35 लाख रुपए खर्च करके पिपरौली के इस ऐतिहासिक पोखरे को नई पहचान दिलाने का कार्य करेंगे।


नैतिक जिम्मेदारी उठाने के लिए पिपरौली ब्लाक प्रमुख दिलीप यादव जी को समस्त क्षेत्रवासियों की तरफ से बहुत-बहुत बधाई एवं धन्यवाद ज्ञापित किया जाता है।


 छठ पूजा के दौरान भी पोखरे में काफी कचरा होने की वजह से लोगों को दिक्कत हो रही थी, तब भी ब्लॉक प्रमुख के द्वारा उसके सफाई व्यवस्था को बनाया गया था।

Share this story