दहेज की मांग से प्रताड़ित होकर विवाहिता ने की आत्महत्या, बिन मां की हो गई पांच माह की बेटी
दहेज की मांग से प्रताड़ित होकर विवाहिता ने की आत्महत्या, बिन मां की हो गई पांच माह की बेटी

हरियाणा के पानीपत जिले के समालखा कस्बे की आदर्श कॉलोनी में एक 22 साल की विवाहिता ने दहेज की मांग से प्रताड़ित होकर जहर खाकर जान दे दी। आरोप है कि ससुराल के लोग उसे पांच लाख रुपये के लिए परेशान कर रहे थे। समालखा थाना पुलिस ने मायके वालों के बयान दर्ज कर पोस्टमार्टम कराकर शव सौंप दिया। पुलिस ने मामले में पति, सास, ननदों समेत ससुराल के सात लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज किया है। आरती की मौत के बाद उसकी पांच माह की बेटी बिन मां हो गई। 

रमेश कुमार ने बताया कि भांजी आरती (22) की शादी डेढ़ साल पहले सोनीपत के गांव फरमाणा निवासी आकाश के साथ हुई थी। शादी के वक्त अपने हिसाब से ज्यादा ही खर्च किया था। इसके बावजूद शादी के करीब एक वर्ष बाद ससुराल वाले उसे परेशान करने लगे।
 
प्रताड़ित करने के साथ मारपीट भी शुरू कर दी थी। दहेज में पांच लाख रुपये की मांग करने लगे। करीब दो माह पहले आरती प्रताड़ना से परेशान हो गई। इसके चलते उसे मायके ले आए थे। यहां आने के बाद भी ससुरालियों के ताने निरंतर जारी थे। इन सबसे परेशान होकर आरती ने सोमवार सुबह जहर खाकर आत्महत्या कर ली। उसे एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां सोमवार की देर रात 12 बजे बाद उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। आरती पांच माह के बेटी की मां थी।

Share this story