कल खुलेगा कश्मीर में 32 साल बाद पहला मल्टीप्लेक्स, लाल सिंह चड्ढा की फिल्म से होगी शुरुआत
कल खुलेगा कश्मीर में 32 साल बाद पहला मल्टीप्लेक्स, लाल सिंह चड्ढा की फिल्म से होगी शुरुआत

कश्मीर में 32 साल के बाद मल्टीप्लेक्स सिनेमा शुरू होने जा रहा है।

श्रीनगर: कभी फिल्मों की शूटिंग के लिए सबसे बेहतरीन लोकेशन माने जाने वाले जम्मू-कश्मीर में सिनेमा देखना बंद था। आतंकवाद के साये में असुरक्षित माहौल के बीच कश्मीर की घाटी फिल्मों से दूर हो गई थी। सिनेमाहॉल बंद हो गए थे, लेकिन धारा 370 खत्म होने के बाद माहौल बदला है। करीब तीन दशकों के बाद अब एक बार फिर से घाटी में सिनेमा की शुरुआत होने जा रही है।

जी हां, कल मंगलवार यानी 20 सितंबर से कश्मीर का पहला मल्टीप्लेक्स लोगों का मनोरंजन करना शुरू कर देगा। 32 साल बाद घाटी में रहने वाले लोग हिंदी फिल्में देख सकेंगे। इसकी शुरुआत मशहूर बॉलीवुड एक्टर आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्ढा से होगी।

कश्मीर में रहनेवालों को श्रीनगर का ब्रॉडवे सिनेमा जरूर याद होगा। इसी सिनेमाहॉल को अब मल्टीप्लेक्स में तब्दील कर दिया गया है। श्रीनगर के सोनवार इलाके में स्थित इस मल्टीप्लेक्स में 32 वर्षों के बाद मंगलवार को पहली फिल्म दिखाई जाएगी। ब्रॉडवे सिनेमा के मालिक विजय धर ने कहा कि सिनेमा उनके खून में है, इसलिए अब जबकि कश्मीर में पहले वाले हालात में बदलाव हुए है, तो उन्होंने एक बार फिर इसे शुरू करने की पहल की है। मंगलवार को कश्मीर के पहले मल्टीप्लेक्स का उद्घाटन किया जाएगा।

ब्रॉडवे सिनेमा के संचालक विजय धर के मुताबिक श्रीनगर में मल्टीप्लेक्स शुरू करने के लिए आईनॉक्स (INOX) समूह से बात करने के बाद ही ब्रॉडवे सिनेमाहॉल को मल्टीप्लेक्स के रूप में तब्दील करने का फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि इसकी शुरुआत होने के बाद घाटी के लोग कश्मीर में ही फिल्में देखने का आनंद उठा सकेंगे।

यह भी पढ़े 

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज दिल्ली में गृहमंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करने वाले हैं। मुलाकात के दौरान पंजाब लोक कांग्रेस की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में विलय पर भी चर्चा हो सकती है। नड्डा और शाह से मिलने के पूर्व अमरिंदर सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात कर चुके हैं। पार्टी के बड़े नेताओं की कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात को 2024 के लोकसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है, जहां पार्टी पहले से अधिक सीट जीतने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है।

कैप्टन को मिल सकती है कमान

अगर पंजाब लोक कांग्रेस का भाजपा में विलय होता है तो पार्टी अमरिंदर सिंह को पंजाब में बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है। आम आदमी पार्टी के उदय के बाद सभी पार्टियां फिर से राज्य में जमीन तलाशने की नई संभावनाओं पर विचार कर रही हैं। ऐसे में कांग्रेस को दो बार सत्ता में ला चुके कैप्टन भाजपा के लिए बड़ी उपलब्धि बन सकते हैं, साथ ही भाजपा की बड़े सिख चेहरे की तलाश भी पूरी हो सकती है।

विधानसभा चुनाव में नहीं मिला था फायदा

विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की जबरदस्त जीत के आगे बड़े-बड़े नेताओं ने घुटने टेक दिए थे। लोकसभा चुनाव में परिस्थिति अलग होने के कारण भाजपा को उम्मीद है कि राज्य में वह अच्छा प्रदर्शन कर सकती है। किसान आंदोलन ने भी राज्य में भाजपा की छवि को खासा नुकसान पहुंचाया है। हालांकि पार्टी को उम्मीद है कि मोदी के चेहरे पर लोकसभा चुनाव के नतीजे उसके अनुकूल आ सकते हैं।

Share this story