×

सरकार का बड़ा ऐलान, कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी सरकारी नौकरी

breaking

The Chief Minister announced: अपने बजट में मुख्यमंत्री ने अनाथ बच्चों के लिए बड़ा ऐलान किया है। कोरोना काल के दौरान हजारों बच्चे ऐसे थे, जिन्होंने अपने दोनों मां-बाप को खो दिया और अब अनाथाश्रम में या रिश्तेदारों के साथ रह रहे हैं।

 

The Chief Minister announced: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कल बजट पेश किया है। इस बजट में युवाओं और महिलाओं का खास ध्यान रखा गया है। सीएम गहलोत ने जनता से वादा किया था कि इस बार का बजट महिलाओं-युवाओं पर केंद्रित होगा।

 

 

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि जनता की साल 2023-24 का बजट जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला होगा। बजट सामने आने के बाद सीएम गहलोत अपना वादा पूरा करते दिख रहे हैं।

 


1 से 12वीं तक मुफ्त शिक्षा

 

राजस्थान में अब छात्राओं के साथ-साथ छात्रों को भी 12वीं क्लास तक मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। RTE के तहत 12वीं तक के बच्चे निशुल्क शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं।

 

 

कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को सरकारी नौकरी


अपने बजट में मुख्यमंत्री ने अनाथ बच्चों के लिए बड़ा ऐलान किया है। कोरोना काल के दौरान हजारों बच्चे ऐसे थे, जिन्होंने अपने दोनों मां-बाप को खो दिया और अब अनाथाश्रम में या रिश्तेदारों के साथ रह रहे हैं।

 

इन बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए गहलोत सरकार ने सभी को सरकारी नौकरी देने का निर्णय लिया है। बजट में इसकी घोषणा की गई है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कल बजट पेश किया है। इस बजट में युवाओं और महिलाओं का खास ध्यान रखा गया है। सीएम गहलोत ने जनता से वादा किया था कि इस बार का बजट महिलाओं-युवाओं पर केंद्रित होगा।

https://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js?client=ca-pub-2953008738960898" crossorigin="anonymous">

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि जनता की साल 2023-24 का बजट जनता की आकांक्षाओं को पूरा करने वाला होगा। बजट सामने आने के बाद सीएम गहलोत अपना वादा पूरा करते दिख रहे हैं।


1 से 12वीं तक मुफ्त शिक्षा

राजस्थान में अब छात्राओं के साथ-साथ छात्रों को भी 12वीं क्लास तक मुफ्त शिक्षा दी जाएगी। RTE के तहत 12वीं तक के बच्चे निशुल्क शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं।

कोरोना में अनाथ हुए बच्चों को सरकारी नौकरी


अपने बजट में मुख्यमंत्री ने अनाथ बच्चों के लिए बड़ा ऐलान किया है। कोरोना काल के दौरान हजारों बच्चे ऐसे थे, जिन्होंने अपने दोनों मां-बाप को खो दिया और अब अनाथाश्रम में या रिश्तेदारों के साथ रह रहे हैं।

इन बच्चों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए गहलोत सरकार ने सभी को सरकारी नौकरी देने का निर्णय लिया है। बजट में इसकी घोषणा की गई है।

Share this story