T20 वर्ल्डकप से पहले टीम इंडिया को मिला नया हेड कोच, रवि शास्त्री की छुट्टी
T20 वर्ल्डकप से पहले टीम इंडिया को मिला नया हेड कोच, रवि शास्त्री की छुट्टी

रवि शास्त्री के बाद भारत के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ का टीम इंडिया का नया हेड कोच बनना लगभग तय है। द्रविड़ ने पहले कई बार कोचिंग का ऑफर ठुकराया दिया था, लेकिन भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की कोशिशों के बाद अब वह राजी हो गए हैं। बताया जा रहा है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने दुबई में शुक्रवार रात को द्रविड़ के साथ बैठक की और उन्हें टीम का कोच बनने के लिए मना लिया। इसके अलावा पारस म्हाम्ब्रे भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच होंगे। द्रविड़ के भरोसेमंद म्हाम्ब्रे भरत अरुण की जगह लेंगे। हालांकि, दोनों की नियुक्ति को लेकर बीसीसीआई की ओर से आधिकारिक बयान आना बाकी है।

राहुल द्रविड़ क्यों नहीं बनना चाहते हेड कोच?

राहुल द्रविड़ क्यों टीम इंडिया के हेड कोच नहीं बनना चाहते? इसकी वजह उन्होंने बीसीसीआई को बताई हैं । राहुल द्रविड़ ने कहा कि वो जूनियर स्तर के क्रिकेट पर ध्यान देना चाहते हैं और नेशनल क्रिकेट एकेडमी में वो युवा खिलाड़ियों को भविष्य के लिए तैयार करना चाहते हैं।  बता दें राहुल द्रविड़ हाल ही में श्रीलंका दौरे पर बतौर हेड कोच गए थे।  जहां टीम इंडिया ने टी20 और वनडे सीरीज खेली थी।  राहुल द्रविड़ के बतौर हेड कोच श्रीलंका जाते ही ये सुगबुगाहट होने लगी थी कि वो भविष्य में टीम इंडिया के फुल टाइम हेड कोच बन सकते हैं।  लेकिन ऐसा हुआ नहीं और उन्होंने नेशनल क्रिकेट एकेडमी में रहना ही बेहतर समझा। 

टीम इंडिया के लिए अच्छी खबर

सूत्र के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि द्रविड़ हेड कोच बनने के लिए तैयार हैं और टीम इंडिया के लिए इससे अच्छी खबर नहीं हो सकती। अब बाकी के स्थानों के लिए नए कोच ढूंढे जाएंगे। मौजूदा बैटिंग कोच विक्रम राठौड़ अपने पद पर बने रहेंगे। इसके साथ ही पारस म्हामब्रे गेंदबाजी कोच बनेंगे। वह मौजूदा बॉलिंग कोच भरत अरुण का स्थान लेंगे। फील्डिंग कोच आर. श्रीधर के रिप्लेसमेंट पर कोई फैसला नहीं किया गया है। 

T20 वर्ल्डकप से पहले टीम इंडिया को मिला नया हेड कोच, रवि शास्त्री की छुट्टी

द्रविड़ हमेशा से ही पहली पसंद

द्रविड़ हमेशा से ही कोच पद के लिए बीसीसीआई की पहली पसंद रहे हैं। हालांकि, इसके लिए बोर्ड सचिव जय शाह और अध्यक्ष गांगुली को द्रविड़ से आराम से बात करने और उन्हें समझाने की जरूरत थी। हालांकि, अब मामला सुलझ गया है। द्रविड़ इस साल जुलाई में श्रीलंका सीरीज पर भी भारतीय टीम के कोच के तौर पर दौरे पर गए थे। टीम इंडिया ने वनडे सीरीज जीती थी। वहीं, कोरोना से प्रभावित टी-20 सीरीज में हार का सामना करना पड़ा था।

गांगुली से बातचीत कर तैयार हुए

सूत्र ने कहा कि जय और सौरव से बातचीत के बाद द्रविड़ तैयार हो गए हैं। द्रविड़ हमेशा से भारतीय क्रिकेट को प्राथमिकता देते हैं। इसलिए उन्हें मनाना आसान रहा। उम्मीद है कि उनके आने से भारतीय टीम नई ऊंचाइयों तक पहुंच सकेगी।

द्रविड़ को मिलेगा 10 करोड़ रुपये सालाना वेतन

खबर के मुताबिक, द्रविड़ को दो साल का अनुबंध दिया गया है. यानी ये करार साल 2023 वर्ल्ड कप तक चलेगा. उन्हें 10 करोड़ रुपये बतौर वेतन मिलेगा. उन्हें पिछले महीने ही एनसीए प्रमुख के रूप में फिर से नियुक्त किया गया था. लेकिन भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने के लिए बीसीसीआई को एक मजबूत उम्मीदवार की जरूरत थी. गांगुली और जय शाह की नजर में ये काम द्रविड़ से बेहतर कोई अंजाम नहीं दे सकता था. इसलिए उन्हें इस रोल के लिए चुना गया. वो न्यूजीलैंड सीरीज से यह जिम्मेदारी संभाल लेंगे.

शास्त्री 2017 में बने थे मुख्य कोच

शास्त्री 2017 में टीम इंडिया के मुख्य कोच बने थे। उनके कोच रहते टीम इंडिया ने जुलाई 2017 के बाद से 43 टेस्ट, 72 वनडे और 60 टी-20 मैच खेले हैं। 43 में से भारत ने 25 टेस्ट, 72 वनडे में से 51 वनडे और 60 टी-20 में से 40 टी-20 में टीम इंडिया ने जीत हासिल की। इस दौरान टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में दो बार टेस्ट सीरीज भी जीती।

dfdf

रवि शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट हो रहा खत्म

मौजूदा कोच रवि शास्त्री का कॉन्ट्रैक्ट रविवार से शुरू हो रहे टी- 20 विश्व कप के साथ खत्म हो रहा है।  बीसीसीआई ओमान और यूएई में टी- 20 विश्व कप की मेजबानी कर रहा है।  भारत अपने टी- 20 विश्व कप अभियान की शुरुआत 24 अक्टूबर को दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ करेगा।  आगामी टी 20 विश्व कप के बाद, विराट कोहली भी टी-20 टीम के कप्तान के रूप में पद छोड़ देंगे। 

Share this story