मुंबई में गरीबों का सहारा बनी "बन्नी माँ सेवा समिति" संस्था
महाराष्ट्र। कहते हैं कि जिसका कोई नहीं होता उसका भगवान होता है। भगवान ही किसी न किसी माध्यम से असहायों को सहारा देते हैं और भूखे को भोजन खिलाते हैं। ऐसी ही एक संस्था है "बन्नी माँ सेवा समिति"। यह संस्था जरूरत मंद लोगों को खाद्य सामग्री का वितरण करती है। बन्नी माँ सेवा समिति संस्था ने नवरात्र के शुभ अवसर पर गरीब, असहाय और जरूरतमंदों को भोजन वितरण किया। संस्था के अध्यक्ष के अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह के निर्देशानुसार संस्था के राष्ट्रीय सचिव राकेश रौनक ने अपने अन्य सदस्यों और सहयोगियों के साथ झुग्गी झोपड़ियों में गुजर बसर कर रहे गरीबों में भोजन का वितरण किया। कार्यक्रम में राकेश रौनक के साथ साथ साथ सौरभ कुमार, जाकी पटेल, रैया लबिब, अक्षय दित्ती, प्रिंस अधिकारी और रवि कुमार आदि अन्य लोग शामिल रहे।

महाराष्ट्र। कहते हैं कि जिसका कोई नहीं होता उसका भगवान होता है। भगवान ही किसी न किसी माध्यम से असहायों को सहारा देते हैं और भूखे को भोजन खिलाते हैं। ऐसी ही एक संस्था है "बन्नी माँ सेवा समिति"। यह संस्था जरूरत मंद लोगों को खाद्य सामग्री का वितरण करती है।

महाराष्ट्र। कहते हैं कि जिसका कोई नहीं होता उसका भगवान होता है। भगवान ही किसी न किसी माध्यम से असहायों को सहारा देते हैं और भूखे को भोजन खिलाते हैं। ऐसी ही एक संस्था है

बन्नी माँ सेवा समिति संस्था ने नवरात्र के शुभ अवसर पर गरीब, असहाय और जरूरतमंदों को भोजन वितरण किया। संस्था के अध्यक्ष के अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह के निर्देशानुसार संस्था के राष्ट्रीय सचिव राकेश रौनक ने अपने अन्य सदस्यों और सहयोगियों के साथ झुग्गी झोपड़ियों में गुजर बसर कर रहे गरीबों में भोजन का वितरण किया। कार्यक्रम में राकेश रौनक के साथ साथ साथ सौरभ कुमार, जाकी पटेल, रैया लबिब, अक्षय दित्ती, प्रिंस अधिकारी और रवि कुमार आदि अन्य लोग शामिल रहे।

महाराष्ट्र। कहते हैं कि जिसका कोई नहीं होता उसका भगवान होता है। भगवान ही किसी न किसी माध्यम से असहायों को सहारा देते हैं और भूखे को भोजन खिलाते हैं। ऐसी ही एक संस्था है

Share this story