रेलवे ने दिया तगड़ा झटका, इन स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट हुआ महंगा
railway

देश की बड़ी आबादी रोजाना ट्रेन से यात्रा करती है. कोरोना महामारी के शुरू होने के बाद से ट्रेन सेवाओं में काफी बदलाव किया गया. इस दौरान, कई महीनों तक ट्रेनें प्रभावित रहने की वजह से रेलवे को काफी नुकसान भी उठाना पड़ा. अब भारतीय रेलवे ने कुछ स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों के दामों में बढ़ोतरी करने का ऐलान किया है. हालांकि, यह टिकट मकर संक्रांति त्योहार की वजह से 20 जनवरी तक ही महंगे रहेंगे.

साउथ सेंट्रल रेलवे के नोटिफिकेशन के अनुसार, हैदराबाद, सिकंदराबाद, लिंगमापल्ली और बेगमपेट और सिकंदराबाद डिविजन के अन्य अहम स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकटों की कीमत अस्थाई रूप से बढ़ाई जा रही है. साउथ सेंट्रल रेलवे ने कहा, ''प्लेटफॉर्म पर भीड़ को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने और यात्रियों को असुविधा से बचने के लिए टिकट की कीमतों में अस्थायी रूप से बढ़ोतरी की गई है. आगामी त्योहारी सीजन के दौरान कोविड-19 के प्रसार के खिलाफ किराया वृद्धि भी एक एहतियाती उपाय है.'' सिकंदराबाद मंडल के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमतें दोगुनी कर दी गई हैं.बढ़ोतरी से पहले इन स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म टिकट की कीमत 10 रुपये थी. वहीं, इस बीच, रेलवे बोर्ड ने उन स्टेशनों पर सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए यात्रियों से स्टेशन विकास शुल्क (एसडीएफ) या उपयोगकर्ता शुल्क 10 रुपये से 50 रुपये के बीच वसूलने का फैसला किया है, जहां पर सेवाओं में सुधार किया गया है या फिर भविष्य में किया जाएगा. यह कीमत टिकट की बुकिंग के समय ही जुड़ जाएगा, जैसे कि फ्लाइट टिकटों की बुकिंग के समय होता है. उपयोगकर्ता शुल्क तीन श्रेणियों के तहत लिया जाएगा, एसी क्लास के लिए 50 रुपये, स्लीपर क्लास के लिए 25 रुपये और अनारक्षित क्लास के लिए न्यूनतम 10 रुपये.

vv

Share this story