प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट का किया शिलान्यास, कहां- भारत निरंतर विकास करने वाला देश
प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट का किया शिलान्यास... कहां भारत निरंतर विकास करने वाला देश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज ग्रेटर नोएडा के जेवर (Jewar) में नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) का शिलान्यास किया। यह एयरपोर्ट बनने के बाद यह भारत का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बन जाएगा। इस एयरपोर्ट के बन जाने से जहां पश्चिमी यूपी (Western Up) में रोजगार (Employment) के अवसर बढ़ेंगे वही दूसरी तरफ एनसीआर (NCR) व अन्य क्षेत्रों से कनेक्टिविटी के नए द्वार खुल जाएंगे। एयरपोर्ट के पहले चरण का कार्य सितंबर 2024 (September 2024) तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Narendra Modi) ने आज ग्रेटर नोएडा के जेवर (Jewar) में बनने जा रहे हैं देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) का शिलान्यास किया है। इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Up Cm Yogi Adityanath), केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia), प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Maurya), प्रदेश सरकार के उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता उर्फ नंदी (Nand Gopal Gupta Nandi) व गौतमबुद्ध नगर से सांसद डॉ महेश शर्मा (Mahesh Sharma) उपस्थित थे। 


देश का पहला राज्य होगा यूपी जहां होंगे 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे..

उत्तर प्रदेश में 2017 तक केवल दो ही अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे वाराणसी व लखनऊ के रूप में थे। प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद प्रदेश को कुशीनगर, अयोध्या व नोएडा एयरपोर्ट के रूप में तीन नए अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे मिलने जा रहे हैं। जहां कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Kushinagar International Airport) का उद्घाटन कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया गया है। वही अयोध्या में बन रहे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का कार्य तेजी से जारी है। वही ग्रेटर नोएडा में बनने जा रहा है देश के सबसे बड़े एयरपोर्ट नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास आज प्रधानमंत्री मोदी ने किया है। इन चीजों के बाद अब उत्तर प्रदेश देश का सबसे ज्यादा 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा वाला प्रदेश बन जाएगा। प्रदेश में अभी कुल आठ एयरपोर्ट कार्यरत हैं। जबकि 13 एयरपोर्ट और 7 एयर स्ट्रिप को बनाने का कार्य तेजी से चल रहा है। 

तीस हजार करोड़ से अधिक की आएगी लागत! पहला चरण 2024 में पूरा होने उम्मीद..

इस एयरपोर्ट को बनाने में तीस हजार करोड़ से अधिक का खर्च आएगा। एयरपोर्ट का पहला चरण 5000 करोड़ से अधिक की लागत से सितंबर 2024 तक पूरा होने की उम्मीद है। जब यह एयरपोर्ट बन जाएगा तब इसके पास कूल 6 से 8 रनवे होंगे। जो कि देश में किसी ने एयरपोर्ट पर सबसे ज्यादा रनवे होंगे। वही इस एयरपोर्ट पर 1 साल में 7 करोड़ से अधिक यात्री सफर कर सकेंगे। इसे एयरपोर्ट के बन जाने के कारण दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर से दबाव कम होगा। वहीं यात्रियों की सुविधाएं भी बढ़ेगी। इस एयरपोर्ट को एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड (वाईआईएपीएल) व स्विस रियायतग्राही ज्यूरिख इंटरनेशनल एयरपोर्ट एजी की सहयोग से बनाया जा रहा है।

एयरपोर्ट बन जाने से बदल जाएगी यूपी की तस्वीर..

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की खासियत यह है कि यह दिल्ली एनसीआर के बीचो-बीच बन रहा है। इस एयरपोर्ट से नई दिल्ली से आईजीआई एयरपोर्ट की दूरी 72 किलोमीटर व नोएडा से दूरी 40 किलोमीटर है। वहीं ग्रेटर नोएडा से 20 किलोमीटर की दूरी पर यह एयरपोर्ट बन रहा है। इसके अलावा यह एयरपोर्ट उत्तर भारत का सबसे बड़ा लॉजिस्टिक गेटवे (Logistics Gateway) भी बनेगा। नॉर्थ इंडिया के व्यापारी अपने सामानों को अंतरराष्ट्रीय बाजारों में बड़े आसानी से बेच सकेंगे। एयरपोर्ट के बन जाने से एक लाख लोगों से अधिक को रोजगार मिलेगा। वही जेवर एयरपोर्ट के पास ही नोएडा फिल्म सिटी भी बनाई जा रही है। जिससे कि इस क्षेत्र में विकास के साथ-साथ रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। फिल्म सिटी का निर्माण एक हजार एकड़ में कराया जाएगा।

देश का सबसे बड़ा एमआरओ (Mro) सेंटर बनेगा..

इस एयरपोर्ट परिसर में ही देश का सबसे बड़ा एमआरओ Mro (मेंटिनेंस, रिपेयर एंड ओवरहालिंग) सेंटर बनाया जाएगा। यह सेंटर हवाई जहाजों के मेंटेनेंस के लिए बनाया जाता है। वर्तमान समय में देश का एकमात्र एमआरओ सेंटर महाराष्ट्र के नागपुर एयरपोर्ट में है। जो कि काफी छोटा है। इस एमआरओ सेंटर बन जाने से देश को एशिया का सबसे बड़ा एमआरओ सेंटर मिलेगा। वहीं इसके अलावा एयरपोर्ट के पास कमर्शियल बिल्डिंग के साथ-साथ होटल, शॉपिंग सेंटर व कन्वेंशन सेंटर भी बनाए जाएंगे।

Share this story