चीन और पाकिस्तान को लद्दाख की धरती से सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे का कडा संदेश
आर्मी चीफ

आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे शुक्रवार को दो दिन के पूर्वी लद्दाख दौरे पर पहुंचे. यहां उन्होंने मौजूदा सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया. इस दौरान आर्मी चीफ ने कहा कि चीन सीमा पर स्थिति नियंत्रण में है. हालांकि, उन्होंने कहा, चीन की सेना ने अपनी सीमा में काफी निर्माण कार्य किया है, लेकिन भारतीय सेना हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है। उन्होंने चुशुल में 1962 के भारत-चीन युद्ध में शहीद हुए सेना के जवानों को सलामी दी।

वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सर्दी की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हो रही भारतीय सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे दो दिवसीय लद्दाख दौरे पर पहुंचे है। . यहां उन्होंने मौजूदा सुरक्षा स्थिति का जायजा लिया. इस दौरान आर्मी चीफ ने कहा कि चीन सीमा पर स्थिति नियंत्रण में है. हालांकि, उन्होंने कहा, चीन की सेना ने अपनी सीमा में काफी निर्माण कार्य किया है, लेकिन भारतीय सेना हर चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है. आर्मी चीफ नरवणे ने कहा, चीन ने और अधिक सैनिकों की तैनाती के लिए अपनी सीमा में बहुत सारा निर्माण कार्य किया है. फॉरवर्ड क्षेत्रों में उन्होंने तैनाती बढ़ाई है. यह हमारे लिए चिंता की बात है. लेकिन हम उस पर नजर बनाए हुए हैं. ताकि हम जवाब देने के लिए तैयार रहें. उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने भी आधुनिक हथियारों की तैनाती की है. हम मजबूत स्थिति में हैं. हम किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए तैयार हैं। नरवणे का ये दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. दरअसल सर्द के मौसम में तेज बर्फबारी होने के कारण लद्दाख का कई हिस्सा देश के अन्य हिस्सों से कट जाता है. ऐसे में भारत-चीन सीमा पर तैनात भारतीय जवानों का उत्साह बढ़ाने और ठंड में भी सरहद पर डटे रहकर भारत की रक्षा के लिए सेना प्रमुख अपने प्रवास के दौरान उन कठिन इलाकों में जाकर वहां तैनात सैनिकों के साथ बातचीत करेंगे. उनका उत्साह भी बढ़ाएंगे.

पड़ोसी देश चीन से हालात तनावपूर्ण

मालूम हो कि फिलहाल भारत और पड़ोसी देश चीन के बीच तनावपूर्ण हालात चल रहे हैं, पिछले साल ही कोविड महामारी के दौरान चीन ने कई दफा पूर्वी लद्दाख से सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की कोशिश की थी. वहीं अप्रैल महीने के आखिर में चीन की PLA सेना ने गलवान घाटी में बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती कर दी थी. इस दौरान दोनों देशों के सैनिकों के बीच फायरिंग और हिंसक-झड़पें भी हुई थीं. इसमें चीन के करीब 20 सैनिकों की मौत होने की खबर आई थी. हालांकि, कुछ भारतीय जवान भी शहीद हो गए थे हालांकि, आर्मी चीफ ने बताया कि सीमा पर स्थिति अभी नियंत्रण में है. हम नियमित जांच करते हैं. चीन से सीमा विवाद निपटाने के लिए सभी स्तरों पर बातचीत जारी है. अभी तक 12 दौर की बातचीत हो चुकी है. जल्द ही 13वें दौर की बातचीत होगी. हमें उम्मीद है कि जल्द ही सभी मुद्दे निपट जाएंगे. 

पाकिस्तान पर क्या बोले आर्मी चीफ
जनरल नरवणे ने कहा, पाकिस्तान के साथ सीजफायर समझौता काफी अच्छा रहा. लेकिन पिछले 2 महीने से घुसपैठ की कोशिशें बढ़ी हैं पाकिस्तानी सेना की जानकारी के बिना घुसपैठ की कोशिशें नहीं हो सकती हैं. पिछले 10 दिन में दो बार सीजफायर उल्लंघन किया गया. हमने हर स्तर पर बात की है और इसपर चिंता व्यक्त की।

Share this story