कृषि कानून वापस: बैल कितना भी अड़ियल क्यों न हो, किसान अपना खेत जुतवा ही लेता है
बता दें कि कृषि कानून को लेकर लंबे समय से दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसान धरना—प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों के इस आंदोलन को एक साल पूरा हो चुका है. प्रधानमंत्री मोदी ने जब किसानों की मांग को लेकर कानून वापसी का ऐलान किया तो लोग इसे आगामी चुनावों से भी जोड़कर देख रहे हैं.Live TV

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कृषि कानूनों को वापस लेने के ऐलान के बाद विपक्षी दल तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. सोशल मीडिया पर भी कई तरह के मीम चल रहे हैं. शिवसेना के फायरब्रांड नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने भी इस मामले को लेकर तंज कसा है. उन्होंने ट्वीट करते हुए सरकार पर निशाना साधा है.शिवसेना के नेता संजय राउत ने ट्वीट में लिखा, "बैल कितना भी अड़ियल क्यों न हो, किसान अपना खेत जुतवा ही लेता है. जय जवान, जय किसान!!"

संजय राउत सोशल मीडिया काफी एक्टिव रहते हैं. वे अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में आ जाते हैं. कानून वापसी के ऐलान के बाद उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की, जिसमें वे किसान नेता राकेश टिकैत के साथ नजर आ रहे हैं. इस तस्वीर के संजय राउत ने लिखा— टैक्टर और जेसीबी का साथ, ​कृषि कानून हुआ साफ.

कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर किसान लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं. वहीं इसी बीच गुरु नानक देव के प्रकाश पर्व के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानूनों की वापसी का ऐलान कर दिया. इस फैसले के बाद से विपक्षी दलों के नेता सरकार पर तंज कस रहे हैं. उनका कहना है कि किसानों के आंदोलन के सामने आखिर सरकार को झुकना पड़ गया.


बता दें कि कृषि कानून को लेकर लंबे समय से दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसान धरना—प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों के इस आंदोलन को एक साल पूरा हो चुका है. प्रधानमंत्री मोदी ने जब किसानों की मांग को लेकर कानून वापसी का ऐलान किया तो लोग इसे आगामी चुनावों से भी जोड़कर देख रहे हैं.

Share this story