×
लाल कृष्ण आडवाणी के जन्मदिन पर बधाई देने पहुंचे PM मोदी, राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने दी बधाई
PM मोदी, राजनाथ लालकृष्ण आडवाणी के बर्थडे पर उनके आवास पहुंचे, समेत कई नेताओं ने दी बधाई

भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी मंगलवार (8 नवंबर) को 95 साल के हो गए।उनके जन्मदिन पर कई केंद्रीय मंत्रियों ने सोशल मीडिया पर बीजेपी के वयोवृद्ध नेता को शुभकामनाएं दीं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनके साथ मुलाकात की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं।

 

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी को जन्मदिन की बधाई देने आज सुबह उनके घर पहुंचे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी आडवाणी को जन्मदिन की बधाई देने उनके आवास पहुंचे।

 

 

भारत के पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी मंगलवार (8 नवंबर) को 95 साल के हो गए। उनके जन्मदिन पर कई केंद्रीय मंत्रियों ने सोशल मीडिया पर बीजेपी के वयोवृद्ध नेता को शुभकामनाएं दीं।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार सुबह आडवाणी के घर पहुंचे और उनके साथ मुलाकात की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं।

इस समय मास्को के दौरे पर गए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्विटर पर आडवाणी को बधाई दी और लिखा कि ‘आदरणीय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई। राष्ट्र के लिए उनके कई योगदान और सेवाएं हमें हमेशा प्रेरित करती रहेंगी।’

गृह मंत्री अमित शाह ने भी आडवाणी को जन्मदिन की बधाई दी। उन्होंने लिखा, ‘आदरणीय लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई। आडवाणी जी ने एक ओर अपनी निरंतर मेहनत से देश भर में संगठन को मजबूत किया, वहीं दूसरी ओर सरकार में रहते हुए देश के विकास में अमूल्य योगदान दिया। मैं ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ्य और लंबी उम्र की प्रार्थना करता हूं।’

केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर और किरेन रिजिजू ने भी भारत के 7वें उप प्रधानमंत्री को जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं।

जबकि केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री और आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्विटर पर लिखा, ‘बीजेपी के एक अग्रणी प्रकाश स्तंभ, भारत के राजनीतिक दिग्गज, एक बेहतरीन इंसान और अनुभवी नेता लालकृष्ण आडवाणी जी को जन्मदिन की बधाई।’

गौरतलब है कि लालकृष्ण आडवाणी किशोरावस्था में ही आरएसएस के सदस्य बन गए थे। वे भाजपा के सह-संस्थापक और वरिष्ठ नेता हैं। उन्हें 1990 के दशक में हिंदुत्व की राजनीति को पूरे देश में फैलाने के लिए जाना जाता है।

Share this story