बिक गई जेम पेंट्स की 51 फीसदी हिस्सेदारी, 194 करोड़ रुपये में हुई डील
gem
पीवीसी पाइप और प्लास्टिक उत्पाद विनिर्माता एस्ट्रल 194 करोड़ रुपये में जेम पेंट्स की 51 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी।

पेंट कारोबार में अपना पोर्टफोलियो बनाने की कोशिश में लगी एस्ट्रल ने शुक्रवार को शेयर बाजारों को इस अधिग्रहण समझौते की सूचना दी। इसके मुताबिक कंपनी के निदेशक मंडल से सौदे को मंजूरी मिलने के बाद उसने जेम पेंट्स और उसके शेयरधारकों के साथ एक निर्णायक समझौता किया है।

एस्ट्रल ने कहा कि वह पूरी तरह नकदी में किए जाने वाले इस सौदे के तहत शुरुआत में 194 करोड़ रुपये का निवेश जेम पेंट्स प्राइवेट लिमिटेड में करेगी। इस राशि का इस्तेमाल जेम पेंट्स के पेंट कारोबार के 51 फीसदी इक्विटी हिस्सेदारी मूल्य के बराबर वैकल्पिक परिवर्तनीय ऋणपत्रों की खरीद में किया जाएगा।



एस्ट्रल ने कहा कि जेम पेंट्स की बाकी 49 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी शेयर खरीद समझौते के अनुसार पांच साल की अवधि में किश्तों में की जाएगी। जेम पेंट्स के ऑपरेटिंग पेंट कारोबार को पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी कंपनी ईशा पेंट्स में अलग करने का प्रस्ताव है। यह सौदा 31 मार्च, 2023 तक संपन्न हो जाने की उम्मीद है। जनवरी 1980 में गठित जेम पेंट्स विभिन्न प्रकार के पेंट, वार्निश, गृह सज्जा और औद्योगिक पेंट से संबंधित उत्पादों के निर्माण और आपूर्ति के व्यवसाय में है। वित्त वर्ष 2021-22 में इसने 215 करोड़ रुपये का कारोबार किया है।



एस्ट्रल के प्रबंध निदेशक संदीप इंजीनियर ने कहा, ‘‘जेम पेंट्स का अधिग्रहण एस्ट्रल के उत्पाद पोर्टफोलियो के लिए एक बढ़िया संयोजन होगा। मुझे विश्वास है कि यह एस्ट्रल के ब्रांड मूल्य को नई ऊंचाइयों पर ले जाएगा।’’
 

Share this story