गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को कड़ी टक्कर देंगे अरविन्द केजरीवाल - अंक ज्योतिष जे पी तोलानी
गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को कड़ी टक्कर देंगे अरविन्द केजरीवाल - अंक ज्योतिष जे पी तोलानी

- अंक शास्त्र के अनुसार गुजरात विधानसभा चुनाव में इतनी सीटें अपने नाम कर सकती है आम आदमी पार्टी, बीजेपी को देगी कड़ी टक्कर

दिसंबर में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 के लिए सभी राजनीतिक दलों ने कमर कस ली है, लेकिन सबसे अधिक चर्चा आम आदमी पार्टी की है। जिसने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के साथ, प्रदेशभर में पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की विशाल सभाओं का आयोजन, जोर शोर से शुरू कर दिया है।

आप की तैयारियां देखकर बीजेपी-कांग्रेस के दिग्गज भी सकते हैं, और गुजरात के सियासी गलियारों से लेकर मीडिया तक, आप का शोर साफ़ सुनाई दे रहा है। इस बीच अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त न्यूमरोलॉजिस्ट जे पी तोलानी ने गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की है और आम आदमी पार्टी के सूबे की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनने का दावा किया है।

विगत यूपी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी की विजयी सीटें और पंजाब विस चुनाव में भगवंत मान के सत्ता सँभालने जैसी सटीक भविष्यवाणी कर चुके तोलानी जी की ताजा गणना, गुजरात के सियासी गणित में नया कैलकुलेशन ला सकता है।  

विजय रथ पर सवार होगी आम आदमी पार्टी


अंक शास्त्र या न्यूमरोलॉजी में मूलांक (बर्थ नंबर) और भाग्यांक (डेस्टिनी नंबर) का विशेष महत्व होता है। पूर्व में एलोन मस्क ट्विटर विवाद, मुकेश अंबानी ने रिलायंस जियो के बोर्ड से इस्तीफा और कंगना की सियासी शुरुआत पर सटीक भविष्यवाणी कर चुके अंक शास्त्री जे पी तोलानी के अनुसार, राजनीति के लिए कोर नंबर्स 1,3,4 व 7 हैं, और गुजरात चुनाव के समय, यानी नवंबर के दौरान आम आदमी पार्टी 11 वर्ष की होगी, जहां नंबर 1 की शक्ति ग्यारह गुना तक बढ़ी हुई होगी।

आम आदमी पार्टी (33=3+3=6) का भाग्यांक या डेस्टिनी नंबर 6, विकास का प्रतिनिधित्व करता है, और इस वर्ष का कुल योग भी (2+0+2+2) 6 आता है, इसलिए यह प्रबल रूप से संभव है कि आम आदमी पार्टी अगले गुजरात चुनाव के दौरान विजय रथ पर सवार होकर निकले।  

अरविन्द केजरीवाल के हक़ में नंबर्स 


आप पार्टी संयोजन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की संख्या की गणना करने पर उनका बर्थ नंबर (बीएन) 16/7 प्राप्त होता है, और इसलिए वह हमेशा एक अच्छे वक्ता के रूप में उभरे हैं।

सात नंबर यह भी दर्शाता है कि वह मुफ्त सेवाओं के माध्यम से समाज की मदद करने में विश्वास करते हैं। ऐसे में वह लोगों को जितना अधिक मुफ्त में सेवाओं की पेशकश करेंगे, उतनी ही अधिक उन्हें सफलता मिलने की संभावना बढ़ जाएगी।

साथ ही, उनका भाग्यांक 3,1,4 का कॉम्बिनेशन बनाता है, जो राजनीति में शक्ति या पावर का प्रतिनिधित्व करता है और उनका नाम भी 19/1 और 40/4 के रूप में इस बात का समर्थन करता है। साथ ही, गुजरात में 182 (1+8+2 =11) की कुल सीटें हैं जो आम आदमी पार्टी की रनिंग ऐज के लिए फिर से सहायक सिद्ध होती हैं।

आसान नहीं बीजेपी का किला ढहाना


दूसरी तरफ सत्तारूढ़ बीजेपी के लिए सिरदर्द साबित हो रहे केजरीवाल के लिए बीजेपी के किले को ढहाना भी आसान नहीं होगा। न्यूरोजेम के नाम से मशहूर अंक ज्योतिष तोलानी जी की गणना के अनुसार, एनडीए 10/1, राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन 83/2, के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी (45) 9 को मई 1998 में शामिल किया गया था। नंबर 9 में सभी नंबरों को नियंत्रित करने की शक्ति होती है, इसलिए बीजेपी एनडीए को नियंत्रित कर रही है।

चूंकि यह 25/7 के रनिंग ऐज (आरए) में भी होगा, जो गुजरात (18/9) के लिए भी सहायक है, साथ ही भारतीय जनता पार्टी (45/9) की संख्या, उस राज्य के समान है, जिसने दिखाया कि किस प्रकार बीजेपी गुजरात में सबसे पसंदीदा पार्टी बनी हुई है। .

तोलानी जी के अनुसार, चूंकि पीएम मोदी (नरेंद्र दामोदर दास मोदी - 72/9) भी 9वें नंबर पर हैं, इसलिए इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि वह हमेशा से गुजरातियों के पसंदीदा रहे हैं। उनकी जन्मतिथि 17/8 का संयोजन 17/09/1950 है जो उन्हें कड़ी मेहनत करने वाला और हेल्पिंग नेचर का बनाता है।

इसके अलावा 32/5 उन्हें एक बेहतरीन कम्युनिकेशन स्किल वाला बनाता है। इसके अतिरिक्त गुजरात चुनाव के दौरान मोदी जी की रनिंग ऐज 73/1 होगी, जो एक बार फिर से गुजरात के लिए सभी अनुकूल नंबर्स दिखाती हैं।

इतनी सीटों पर हो सकता है आप का कब्ज़ा 


अब न्यूमरोलॉजी के हिसाब से देखें तो यह संकेत साफ़ है कि आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच कड़ी टक्कर होगी, लेकिन चूंकि बीजेपी के पास मोदी जी का चेहरा है, जो हमेशा गुजरात के लोगों के पसंदीदा रहे हैं, इसलिए भाजपा सत्ता में वापस आ जाएगी, लेकिन आप इन चुनावों में भाजपा को कड़ी प्रतिस्पर्धा देगी। और आप पार्टी 55 से 70 सीटों के बीच सुरक्षित हो सकती है।

उपरोक्त गणना पूर्ण रूप से अंकशास्त्र पर आधारित है।

Share this story