खुशखबरी! अब सबका बनेगा निःशुल्क आयुष्मान कार्ड, जानिए कैसे करें आवेदन!
खुशखबरी! अब सबका बनेगा निःशुल्क आयुष्मान कार्ड, जानिए कैसे  करें आवेदन!

 प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत जनपद में चिन्हित लक्षित परिवारों को योजना का लाभ प्रदान करने के लिए गुरुवार से आयुष्मान पखवाड़ा शुरू किया जा चुका है। इस पखवाड़े में सामाजिक आर्थिक जनगणना 2011 में चिन्हित लाभार्थी परिवारों जिनके परिवार के किसी भी सदस्य के आयुष्मान गोल्डन कार्ड नहीं बने हैं उन पर पूरा ज़ोर दिया जाएगा।

शासन के निर्देश के क्रम में जनपद की आशा कार्यकर्ता स्मार्टफोन से संचालित फेस ओथेंटीकेशन एप (चेहरा प्रमाणीकरण) के माध्यम से पात्र लाभार्थी का तत्काल प्रभाव से आयुष्मान कार्ड बनाएंगी।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने निर्देशित किया कि इस अभियान के दौरान पात्र परिवार वालों को लक्षित किया जाये और अधिकाधिक कार्ड बनाए जाएं। उन्होंने निर्देशित किया कि जन प्रतिनिधियों, विशेष रूप से पंचायती राज निकायों के जनप्रतिनिधियों से आयुष्मान पखवाड़ा को सफल बनाने के लिए सहयोग की अपील की जाए।

लक्षित लाभार्थी परिवारों की ग्राम एवं वार्ड वार सूची ग्राम सभा एवं वार्ड के नोटिस बोर्ड पर चस्पा की जाए। शिविर से पहले संबंधित आशा गांव या वार्ड के चिन्हित परिवारों को शिविर संबंधी जानकारी दें। हर शिविर में आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए कॉमन सर्विस सेन्टर के वीएलई, आरोग्य मित्र, पंचायत सहायक व सीएचओ आदि की उपलब्धता पर व्यवस्था की जाए। आवश्यकतानुसार अन्य सरकारी विभागों में तैनात कम्प्यूटर ऑपरेटर्स को भी आयुष्मान कार्ड बनाने के कार्य में लगाया जाए।

इस संबंध में गुरुवार को विकास भवन सभागार में मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) अभिषेक गोयल की अध्यक्षता में तैयारियों की समीक्षा बैठक भी की गई। मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ संदीप चौधरी ने बताया कि 23 सितंबर को आयुष्मान भारत योजना के चार वर्ष पूरे होने पर यह पखवाड़ा मनाया जा रहा है।

योजना से आच्छादित लाभार्थी परिवारों को सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर चिन्हित करना तथा परिवार के प्रत्येक सदस्य को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराना शासन का प्रमुख लक्ष्य है। पात्र लाभार्थियों के शत-प्रतिशत आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए विभाग पूरी तरह से प्रयासरत है।

उन्होने बताया कि शासन की ओर से हाल ही में आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए "फेस ओथेंटीकेशन” यानि चेहरा प्रमाणीकरण प्रक्रिया द्वारा भी लाभार्थी सत्यापन की व्यवस्था की शुरू की गई। इसके लिए आशा कार्यकर्ता एप के माध्यम से सत्यापित लाभार्थियों का आयुष्मान कार्ड पंचायत सहायक से समन्वय स्थापित कर पात्र लाभार्थी को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराएंगी।

योजना के तहत पात्र लाभार्थी परिवार को प्रत्येक वर्ष पाँच लाख रुपये का निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जाती है।  

योजना के नोडल अधिकारी डॉ मुईजुद्दीन हाशमी व सह नोडल अधिकारी डॉ अतुल सिंह ने बताया कि 15 दिन तक चलने वाले इस अभियान में समस्त पात्र लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाए जाएंगे। अंत्योदय कार्डधारक (लाल राशन कार्ड), श्रम कार्डधारक (अक्टूबर 2019 से अक्टूबर 2020 के बीच बना कार्ड) का भी आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। योजना से जुड़ी किसी भी प्रकार जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 14555 व 1800-111-565 पर संपर्क किया जा सकता है।

अगर आप भी इस आयुष्मान योजना से जुड़ना चाहते हैं, तो आवेदन के समय आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होता है। वरना आपका पंजीकरण रद्द तक हो सकता है। अगर आप अपना आयुष्मान कार्ड बनवाना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले इस बात का ध्यान रखना है कि आपको अपनी पात्रता चेक करनी है। ये आयुष्मान कार्ड सिर्फ वो लोग बनवा सकते हैं, जो पात्र हैं।

ये लोग बनवा सकते हैं कार्ड- 

जिसके परिवार में कोई दिव्यांग सदस्य है

अगर आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं

अगर आप अनुसूचित जाति या जनजाति से आते हैं

अगर आपका मकान कच्चा है

अगर आप दिहाड़ी मजदूरी करते हैं

अगर आप निराश्रित, आदिवासी या ट्रांसजेंडर आदि हैं।

आयुष्मान कार्ड बनवाने के बाद कार्डधारक अपना 5 लाख रुपये तक का मुफ्त में इलाज करवा सकता है। लेकिन ये लाभ सिर्फ पात्र लोगों के लिए है। ऐसे में अगर आप पात्र नहीं हैं, तो गलत तरीके से लाभ लेने की कोशिश बिल्कुल भी न करें। अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपका आवेदन रद्द हो सकता है। 

जब भी इस आयुष्मान कार्ड के लिए आप आवेदन करते हैं, तो आपको एक फॉर्म भरना होता है। इस दौरान ध्यान रखना है कि फॉर्म में कुछ भी गलती न करें और न ही कोई गलत जानकारी न भरें। ऐसा करने पर आपका आवेदन रद्द हो सकता है।

आयुष्मान कार्ड के आवेदन के समय आपको आधार कार्ड, राशन कार्ड, निवास प्रमाण पत्र और एक मोबाइल नंबर की जरूरत होती है। अगर इनमें से कोई भी दस्तावेज आप जमा नहीं करवाते हैं, तो भी आपका आवेदन रद्द हो सकता है।

Share this story