प्रधानमंत्री शरीफ के खिलाफ जांच करने वाले एफआईए अधिकारी की दिल का दौरा पड़ने से मौत
Shehbaz Sharif:

लाहौर।  पाकिस्तान की शीर्ष जांच एजेंसी के एक पूर्व शीर्ष अधिकारी की हृदयाघात से मृत्यु हो गयी जिन्होंने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों समेत कई बड़े नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों की जांच की थी।

‘द डॉन’ अखबार की खबर के अनुसार संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के पूर्व निदेशक मोहम्मद रिजवान (47) पीएमएलएन नीत गठबंधन सरकार बनने से कुछ दिन पहले ही लंबी छुट्टी पर गये थे और बाद में पिछले महीने एफआईए लाहौर निदेशक के कार्यालय से उनका तबादला कर दिया गया।



उनकी जगह चीनी घोटाले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) का प्रमुख अतिरिक्त निदेशक अबू बकर खुदा बख्श को बनाया गया है। रिजवान के परिवार के एक सूत्र के अनुसार उन्हें सोमवार तड़के दिल का दौरा पड़ा और उन्हें एक अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। रिजवान को मंगलवार को यहां सुपुर्दे खाक किया जाएगा।

पाकिस्तान की शीर्ष जांच एजेंसी के एक पूर्व शीर्ष अधिकारी की हृदयाघात से मृत्यु हो गयी जिन्होंने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों समेत कई बड़े नेताओं के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों की जांच की थी।



‘द डॉन’ अखबार की खबर के अनुसार संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) के पूर्व निदेशक मोहम्मद रिजवान (47) पीएमएलएन नीत गठबंधन सरकार बनने से कुछ दिन पहले ही लंबी छुट्टी पर गये थे और बाद में पिछले महीने एफआईए लाहौर निदेशक के कार्यालय से उनका तबादला कर दिया गया।

उनकी जगह चीनी घोटाले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) का प्रमुख अतिरिक्त निदेशक अबू बकर खुदा बख्श को बनाया गया है। रिजवान के परिवार के एक सूत्र के अनुसार उन्हें सोमवार तड़के दिल का दौरा पड़ा और उन्हें एक अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। रिजवान को मंगलवार को यहां सुपुर्दे खाक किया जाएगा।

Share this story