ये मशहूर सिंगर हर साल कराता है बेटी का वर्जिनिटी टैस्ट, आखिर क्या है वजह
ये मशहूर सिंगर हर साल कराता है बेटी का वर्जिनिटी टैस्ट, आखिर क्या है वजह

मशहूर क्लिफोर्ड जोसेफ हैरिस जूनियर या टीआई एक अमेरिकी रैपर, रिकॉर्ड निर्माता और एक अभिनेता हैं। इन्होंने अभी हाल ही में एक इंटरव्यू में अपनी बेटी के बारे में कुछ ऐसा कहा जिसे सुनकर हर व्यक्ति की आँखे फटी रह गई। आपको बता दें कि 39 वर्षीय टी.आई. कार्यक्रम में अपनी पेरेंटशिप पर खुलकर बात किये।

 

 

 

 इंटरव्यू के दौरान, उनसे पूछा गया कि “क्या उन्होंने कभी अपनी बेटी के साथ सेक्स के बारे में बात की है?” तो उन्होंने वाकई हैरान कर देने वाला जवाब दिया, उन्होंने कहा कि ‘वह अपनी बेटी से सेक्स जैसे विषय पर न केवल बात करते हैं, बल्कि उसकी वर्जिनिटी की जांच करवाने हर साल स्त्री रोग विशेषज्ञ के पास भी ले जाते हैं।

 

 

ये अमेरिकी रैपर हर साल करवाता है अपनी बेटी का वर्जिनिटी टेस्ट, वजह जानकर आप  भी रह जाएंगे हैरान

आपको बता दें कि टी.आई. की बड़ी बेटी दियाज हैरिस अभी केवल 18 साल की हैं और कॉलेज में पढ़ रही है। डॉक्टर ने टी.आई. को बताया कि सेक्स के अलावा, हाइमन कई कारणों से टूट सकता है, जैसे- बाइक की सवारी, एथलीट, घुड़सवारी और कई अन्य फिजिकल एक्टिविटी भी हाइमन को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

हर साल क्यों करवाता है ये पिता अपनी बेटी का वर्जिनिटी टेस्ट ? -  why-does-this-father-get-his-daughter-s-virginity-test-done-every-year -  Nari Punjab Kesari
 

शो के होस्ट ने टीआई की इन बातों पर रोक लगा दी और उनकी बेटी को एक कैदी कह दिया। इसके अलावा, शो के होस्ट ने भी टीआई से यह भी कहा, ‘वे दूसरे माता-पिता के लिए गलत उदाहरण पेश कर रहे हैं।’

ये अमेरिकी सिंगर हर साल कराता है बेटी का वर्जिनिटी टैस्ट, जानें वजह this  american singer gets her daughter s virginity test every year bollywood  Tadka

क्या होता है वर्जिनिटी टेस्ट? 

इस टेस्ट में हाइमन की मौजूदा स्थिति जांची जाती है।  इस टेस्ट के मुताबिक ऐसा माना जाता है कि जब कोई सेक्स करता तभी केवल हाइमन टूट या फट सकती है। ऐसा माना जाता है कि वर्जिनिटी टेस्ट कैसे की जाएगी उसकी खोज सन 1898 में की गई थी। इस टेस्ट को 'दो उंगलियों का परीक्षण' भी कहते हैं।  हालांकि इस टेस्ट के परिणामों की सटिकता हमेशा से शक के घेरे में रही है। 

वर्जिन होने का मतलब क्या है?

वर्जिनिटी जिसको हिन्दी में कौमार्य कहते हैं उसे व्यक्ति के संभोग से जोड़कर देखा जाता है।  माना जाता है कि जिस व्यक्ति ने पहले कभी भी सेक्स नहीं किया है वह वर्जिन है। एक महिला में वर्जिनिटी पूरी तरह से हाइमन के सही होने या न होने पर निर्भर करती है।  विशेषज्ञों का कहना है कि वर्जिनिटी को हाइमन से जोड़कर देखना बेहद ही गलत है, क्योंकि इसके खोने की कई अन्य वजह भी होती हैं। 

बता दें कि हाइमन योनि मुख के पास बनी एक पतली झिल्ली होती है। हाइमन के बारे में लोग मानते हैं कि योनि जब तक पूरी तरह से नहीं खुलती तब तक हाइमन (योनिद्वार) सुरक्षित रहती है। वहीं योनि के खुलते ही हाइमन झिल्ली टूट जाती है। 


ये सवाल ऐसा है जिसपर कई सालों से बहस चल रही है। विज्ञान इसका जवाब बिल्कुल अलग तरीके से देता है। विज्ञान कहता है कि हाइमन झिल्ली कई कारणों से टूट सकती है जैसे  खेलों में हिस्सा लेना, व्यायाम करना आदि। ऐसे में विज्ञान इस बात को नहीं मानता कि  महिला की वर्जिनिटी से इसे जोड़ कर देखा जा सकता है। 

Share this story