मुंबई में फिल्म और नोएडा में मीडिया का फ्रॉड दुर्गेश सिंह जौनपुर में झूठी शिकायतें दर्ज करवा रहा, सीएम योगी को ‘इम्पा’ ने लिखा पत्र
पचास से अधिक फिल्म निर्माताओं को चूना लगाने वाला नोएडा से गिरफ्तार  मुंबई। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के 50 से ज्यादा निर्माताओं को लाखों रुपए का चूना लगाने वाले आरोपी को पुलिस ने उत्तर प्रदेश के नोएडा से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी का नाम दुर्गेश सिंह है। ओशिवारा पुलिस ने सिंह को साल 2016 में दर्ज एक ठगी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। नोएडा की सूरजपुर कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को ट्रांजिट रिमांड पर मुंबई भेज दिया गया है। दुर्गेश के खिलाफ फिल्म फाइनांसर मनोज ओझा नाम के शख्स ने शिकायत दर्ज कराई थी। मनोज के मुताबिक दुर्गेश से उनकी पहचान एक दूसरे दोस्त के जरिए हुई। दुर्गेश ने उन्हें बताया था कि वह भोजपुरी फिल्मों और गानों के प्रसारण अधिकार खरीदता है, लेकिन कई बार पैसों की कमी के चलते सौदा नहीं हो पाता।  संगीत व सेटेलाईट अधिकार खरीदने के बहाने करता था धोखाधड़ी  दुर्गेश ने ओझा से 20 लाख रुपयों का करार किया था जिसके तहत वह जरूरत पड़ने पर पैसे का इस्तेमाल करता और बदले में मुनाफे में से ओझा को हिस्सा देता। ओझा ने बताया कि दुर्गेश ने पैसों का इस्तेमाल कर लिया, लेकिन मुनाफे में हिस्सा कभी नहीं दिया। दुर्गेश ने ओझा को समझौते के तहत बतौर सिक्योरिटी कुछ फिल्मों के अधिकार दिए थे। पैसे न देने की सूरत में वे इसका इस्तेमाल कर सकते थे। छह महीने बाद जब फिल्म टुडे मैग्जीन में नोटिस छपवाई तो पता चला कि जिन फिल्मों के अधिकार दुर्गेश ने बेचे थे वह उसकी नहीं किसी और किसी की फिल्में थीं। इसके बाद ओझा ने ओशिवरा पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई। दुर्गा प्रसाद मजूमदार ने भी उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। आर्या म्यूजिक नाम की कंपनी का मालिक दुर्गेश अपना यूट्यूब चैनल भी चलाता है।  धोखाधड़ी के कई शिकार  दुर्गेश के खिलाफ 50 निर्माताओं ने फिल्म निर्माताओं के संगठन इम्पा में धोखाधड़ी की शिकायत की है। दरअसल दुर्गेश भोजपुरी फिल्म निर्माताओं से संपर्क करता था और प्रसारण अधिकार के लिए मोटी रकम देने का वादा करता था। इसके बाद 10 फीसदी अग्रिम भुगतान कर वह एग्रीमेंट बना लेता था। इसके बाद वह फिल्में अपने यू ट्यूब चैनल पर प्रदर्शित कर कमाई करता था जबकि निर्माताओं को पैसे नहीं देता था। निर्माता किसी और को प्रसारण का अधिकार बेचना चाहें तो वह एग्रीमेंट के आधार पर विरोध करता था।

मुंबई में फिल्म प्रोड्यूसरों और नोएडा में मीडिया वालों को भांति भांति तरीके से लूटने वाला शख्स दुर्गेश राजबहादुर सिंह पर आजकल नया फितूर चढ़ा है। फ्राडगिरी में जेल जा चुका यह शख्स अब जौनपुर में कोर्ट-पुलिस में उन सभी की झूठी शिकायतें कर रहा है जिन जिन ने उसके फर्जीवाड़े के खिलाफ लड़ाई की शुरुआत की। 

 

 

फ़िल्म निर्माताओं की सबसे बड़ी संस्था इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (इम्पा) ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी जी को एक पत्र भेजकर इस फ्रॉड दुर्गेश सिंह की पोलपट्टी खोल दी है. साथ ही मांग की है कि फर्जी बोगस केस करने वाले दुर्गेश के खिलाफ समुचित कार्रवाई की जाए। 

 

उल्लेखनीय है कि दुर्गेश सिंह नोएडा में आर्या न्यूज नामक कथित यूट्यूब चैनल चलाकर मीडियाकर्मियों का शोषण करता है।  इसकी खबरें जब भड़ास पर छपीं तो इसने पहले तो फोन पर धमकी दी, फिर जौनपुर में मुकदमा करने की धमकी देने लगा।

ऐसा ही वो मुंबई के उन प्रोड्यूसरों के साथ करता रहता है जिनकी शिकायत पर ये जेल गया। 

Share this story