×

वित्त मंत्री ने किया ऐलान, अब छोटे उद्यमियों को सरकार देगी बड़ा तोहफा, मिलेंगी ये सभी सुविधाएं

छोटे उद्यमियों को सरकार का बड़ा तोहफा, मिलेंगी ये सुविधाएं, वित्त मंत्री ने किया ऐलान

Union Finance Minister Nirmala Sitharaman Kota Rajasthan news: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को यहां रेहड़ी-पटरी वालों, छोटे उद्यमियों और पशुपालकों को 1,550 करोड़ रुपये के कर्ज बांटे। उनके साथ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला भी मौजूद थे। ये कर्ज प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, मुद्रा योजना और पशुपालक किसान क्रेडिट कार्ड जैसी योजनाओं के तहत वितरित किए गए।

 
 

Union Finance Minister Nirmala Sitharaman Kota Rajasthan news:  कोटा राजस्थान  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को यहां रेहड़ी-पटरी वालों, छोटे उद्यमियों और पशुपालकों को 1,550 करोड़ रुपये के कर्ज बांटे।

 

 

उनके साथ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला भी मौजूद थे। ये कर्ज प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, मुद्रा योजना और पशुपालक किसान क्रेडिट कार्ड जैसी योजनाओं के तहत वितरित किए गए।

 

 

 

 

प्रधानमंत्री ने दी कर्ज की गारंटी 


सीतारमण ने यहां दशहरा मैदान में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत कर्ज की गारंटी खुद प्रधानमंत्री ने दी है, इसलिए किसी को भी गारंटी के लिए कोई दस्तावेज पेश करने की जरूरत नहीं है।

 

 

 

 

वित्त मंत्री के कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा, ”श्रीमती सीतारमण ने राजस्थान के कोटा में ऋण वितरण कार्यक्रम के दौरान केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत कुल 1,550 करोड़ रुपये से अधिक के 33,000 से अधिक ऋण स्वीकृति पत्र सौंपे।”

 

 

 

इस कार्यक्रम में सीतारमण ने कहा कि पशुपालकों को कम-से-कम 68 करोड़ रुपये के ऋण दिए जा रहे हैं। कई अन्य लोगों को विभिन्न व्यवसाय और कृषि उद्देश्यों के लिए भी कर्ज दिए जा रहे हैं।

मजबूत बनाना उद्देश्य


वित्त मंत्री ने महिलाओं से अपने क्षेत्रों में किसान उत्पादक संगठन (एफपीओ) बनाने और अपने गांवों में भंडारण और प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना के लिए बैंकों से कर्ज लेने का आग्रह किया।

इस अवसर पर स्थानीय सांसद बिड़ला ने रेहड़ी-पटरी वालों, छोटे उद्यमियों और पशुपालकों से काम बढ़ाने के लिए विभिन्न सरकारी योजनाओं के तहत कर्ज लेने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘हम एक नया आर्थिक तंत्र बनाना चाहते हैं और सबसे गरीब लोगों को सबसे मजबूत बनाना चाहते हैं।’

Share this story