दिल्ली में अभी बंद ही रहेंगे स्कूल, ट्रकों के प्रवेश पर प्रतिबंध 26 नवंबर तक बढ़ा
दिल्ली

नई दिल्ली। राजधानी में प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिल्ली सरकार ने अगले आदेश तक सभी स्कूलों को फिलहाल बंद रखने का फैसला लिया है। शिक्षा निदेशालय ने रविवार को इससे जुड़ा आदेश जारी किया। उधर, सरकार के प्रस्ताव परवायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने वर्क फ्रॉम होम 26 नवंबर तक बढ़ाने का आदेश दिया है। साथ ही, शहर में बाहरी ट्रकों के प्रवेश पर पाबंदी रहेगी।

दिल्ली सरकार ने14 नवंबर को सभी स्कूलों को एक सप्ताह यानी 21 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया था। मंगलवार को वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने भी ऐसा ही निर्देश दिया था। इसी को आधार बनाते हुए निदेशालय ने फैसला लिया है। अफसरों ने बताया कि यह आदेश सरकारी और निजी दोनों स्कूलों पर लागू होगा। ऑनलाइन कक्षाएं चलती रहेंगीऔर बोर्ड कक्षाओं के लिए परीक्षाएं भी आयोजित होंगी।

वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने वर्क फ्रॉम होम की व्यवस्था को 26 नवंबर तक बढ़ा दिया है। इसके बाद दिल्ली सरकार ने कर्मचारियों को शुक्रवार तक घर से काम जारी रखने को कहा है। आयोग ने एनसीआर के शहरों में भी 50 वर्क फ्रॉम होम देने का सुझाव दिया है।

 आयोग ने एनसीआर में कुछ निर्माण और तोड़फोड़ गतिविधियों पर से पाबंदी हटा दी है। हालांकि, यह राहत केवल रेलवे, मेट्रो, एयरपोर्ट, बसअड्डे और रक्षा से जुड़ी गतिविधियों के लिए ही रहेगी।प्रदूषण को लेकर सोमवार को पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने समीक्षा बैठक बुलाई है। इसमें सभी विभागों से जुड़े अधिकारी शामिल होंगे। बैठक में अब तक प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए उठाए गए कदमों और उसके असर की समीक्षा की जाएगी। मौजूदा प्रदूषण स्तर को ध्यान में रखकर आगे पाबंदियों पर फैसला किया जाएगा।

राजधानी में सोमवार से पर्यावरण बस सेवा चलाई जाएगी। इसका मकसद बसों की संख्या बढ़ाना है ताकि ज्यादातर लोग निजी वाहनों को छोड़कर बसों में यात्रा करें और दिल्ली में वाहनों के धुएं से खराब हो रही आबोहवा को ठीक किया जा सके। 

Share this story