दिल्ली-एनसीआर की हवाओं में घुलने लगा जहर
दिल्ली में मानसून की विदाई के साथ प्रदूषण की चादर फैलना शुरू

दिल्ली में मानसून की विदाई के साथ प्रदूषण की चादर फैलना शुरू

दिल्ली में मानसून की विदाई के साथ प्रदूषण की चादर फैलना शुरू हो गई है। प्रदूषित तत्व धीरे-धीरे हवा को प्रदूषित कर रहे हैं। इससे एनसीआर की हवा जहां खराब श्रेणी में पहुंच गई है। वहीं, दिल्ली की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी के नजदीक है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को माना है कि दिल्ली मे प्रदूषण बढ़ रहा है। इसके लिए उन्होंने पराली के धुएं को जिम्मेदार बताया है। साथ ही पड़ोसी राज्यों से अपील की है कि वे पराली के निपटारे के लिए दिल्ली की तरह अपने किसानों की मदद करें, जिससे किसानों को पराली जलानी न पड़े। 

उधर, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड(सीपीसीबी) के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 171 रहा है। इसके अलावा एनसीआर में नोएडा को छोड़कर सभी शहरों की हवा खराब श्रेणी में दर्ज की गई है। नोएडा का एक्यूआई 188 रहा। वहीं, फरीदाबाद का 211, गाजियाबाद का 235, ग्रेटर नोएडा का 223 व गुरुग्राम का 206 एक्यूआई दर्ज किया गया। 

सफर इंडिया के मुताबिक, कुछ जगहों पर आग की वजह से पीएम 10 तत्व के साथ हवाएं चल रही हैं। इससे वायु गुणवत्ता पर भी प्रभाव पड़ रहा है। इस स्थिति को देखते हुए अगले तीन दिनों के भीतर दिल्ली की हवा भी खराब श्रेणी में दर्ज की जाएगी। बीते 24 घंटे में हवा में पीएम 10 का स्तर 184 व पीएम 2.5 का स्तर 76 माइक्रोग्राम प्रतिघन मीटर दर्ज किया गया। 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में प्रदूषण की रोकथाम के लिए पटाखों पर प्रतिबंध के साथ-साथ एंटी डस्ट कैंपेन को लांच किया गया है। वहीं, सरकार ने शीतकालीन कार्ययोजना भी तैयार की है।

Share this story