दिल्ली में CM केजरीवाल के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान घायल हुए बीजेपी सांसद मनोज तिवारी
दिल्ली में CM  केजरीवाल  के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान घायल हुए बीजेपी सांसद मनोज तिवारी

दिल्ली में छठ पूजा को लेकर भाजपा द्वारा शुरू की गई सियासी जंग अब और तेज हो गई है। इस बीच मुख्यमंत्री अरविंंद केजरीवाल के घर के बाहर धरना दे रहे बीजेपी सांसद मनोज तिवारी कथित तौर पर चोट लगने से घायल हो गए। उन्हें सफदरजंग अस्पताल के आपातकालीन विंग में ले जाया गया, जहां फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। उनके कान में चोट लगी है।

जानकारी के अनुसार, इस साल भी नदी किनारे और सार्वजनिक स्थानों पर छठ पर्व मनाने पर प्रतिबंध के खिलाफ उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली भाजपा नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के पास धरना दिया। दिल्ली पुलिस मुख्यमंत्री आवास के आसपास के इलाके में भारी बैरिकेडिंग कर दी थी ताकि प्रदर्शनकारियों को सीएम आवास तक जाने से रोका जा सके।

दिल्ली में CM  केजरीवाल  के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान घायल हुए बीजेपी सांसद मनोज तिवारी

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि जब पुलिस टीमों ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। इस दौरान तिवारी जिस बैरिकेड पर चढ़े थे, उससे गिरने के कारण वह घायल हो गए। उन्हें सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया।

क्या है मामला?

दरअसल दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने पिछले सप्ताह एक आदेश में कोविड-19 स्थिति को देखते हुए नदी किनारे, जलाशयों और मंदिरों सहित सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा समारोह पर रोक लगा दी थी। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल सरकार के इस फैसले का विरोध किया है और सार्वजिनक स्थलों पर छठ पूजा किए जाने की मांग की है।

दिल्ली में CM  केजरीवाल  के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान घायल हुए बीजेपी सांसद मनोज तिवारी

सोमवार को आदेश गुप्ता ने घोषणा की कि त्योहार भव्य तरीके से मनाया जाएगा और पार्टी शासित नगर निगम इसकी व्यवस्था करेगी। वहीं दिल्ली BJP सांसद मनोज तिवारी ने पूर्वांचलियों (दिल्ली में बसे बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लोग) की राय लेने के लिए एक 'रथ यात्रा' शुरू की थी और चेतावनी दी है कि अगर छठ मनाने से लोगों को रोका गया, तो डीडीएमए के आदेश की अवहेलना की जाएगी। छठ प्रतिबंध के खिलाफ तिवारी की रथ यात्रा पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए केजरीवाल ने कहा था कि सार्वजनिक स्थानों पर समारोह की अनुमति नहीं देने का फैसला लोगों की सुरक्षा को देखते हुए लिया गया है और विपक्ष एक संवेदनशील मुद्दे पर ‘‘गंदी राजनीति’’ कर रहा है।

Share this story