पुलिसकर्मी को लग रहा था भूतों से डर, फांसी लगाकर दी जान
पुलिसकर्मी को लग रहा था भूतों से डर, फांसी लगाकर दी जान

तमिलनाडु। अक्‍सर लोगों को खराब सपने आते हैं। इनसे व्‍यक्ति कभी कभी डर जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ तमिलनाडु के एक पुलिसकर्मी के साथ। उसे काफी दिनों से बुरे सपने आ रहे थे। इनसे वह इस कदर डर चुका था कि उसने अपने सरकारी घर पर फांसी लगाकर जान दे दी। उसके आत्‍महत्‍या करने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की है। यह भी जानकारी दी गई है कि जब उसने फांसी लगाई तो घर पर वह अकेला था। इस घटना से हर कोई हैरान है।


यह घटना तमिलनाडु के कुड्डालोर जिले में हुई है। यहां के 33 साल के पुलिसकर्मी प्रभाकरण ने फांसी लगाकर जान दे दी। उसके परिवार का कहना है कि उसने ऐसा इसलिए किया क्‍योंकि उसे हमेशा भूतों का डर सताता था। उसके दिलो दिमाग पर यह भूतों का डर काफी हावी हो गया था प्रभाकरण की पत्‍नी और छोटे बेटा-बेटी भी हैं।अब घटना के बाद सभी का रो-रोकर बुरा हाल है।


परिजनों का कहना है कि प्रभाकरण स्वास्थ्य से जुड़ी कई तरह की समस्याओं जूझ रहा था। उसका इलाज भी चल रहा था। उसे अकसर बुरे सपने आते थे जिसकी वजह से वो डर जाता है। परिजनों ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से उसे एक सपना बार बार आ रहा था जिसमें वो एक जली हुई महिला का गला घोंट रहा है। इस बीमारी से छुटाकार पाने के लिए उसने ज्योतिषियों की मदद ली।बीमारी की वजह से उसने 15 दिन की छुट्टी भी ली थी और खुद को पूजा करने वाले कमरे में बद कर लिया था।


इसी बीच जब उसके बच्‍चे और पत्‍नी किसी शादी समारोह में गए थे, तो उसने घर पर फांसी लगाकर जान दे दी। जब परिवार वापस आया तो उसने प्रभाकरण का शव लटकता देखा तो सभी बदहवास हो गए। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने शव का पोस्‍टमार्टम कराया और जांच शुरू कर दी है।

Share this story