×

Sex Racket का भंडाफोड़, कमरे में इस हालत में पकड़ाई विदेशी युवतियां

Sex Racket का भंडाफोड़, कमरे में इस हालत में पकड़ाई विदेशी युवतियां

रायपुर। राजधानी रायपुर में एक हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। रायपुर के एक फाइव स्टार होटल में पुलिस ने छापेमारी कर एक विदेशी महिला समेत तीन कॉलगर्ल को पकड़ा है।

मामला रायपुर के तेलीबांधा थाना क्षेत्र के एक निजी होटल का है, जहां दलाल के माध्यम से तीन युवतियों को बुलाया गया था।

जानकारी के मुताबिक राजधानी रायपुर में दलाल के जरिए 3 लड़कियों को बुलाया गया था, जिसमें से एक उज्बेकिस्तान(रशियन) की बताई जा रही है।

राजधानी रायपुर के तेलीबांधा थाना क्षेत्र में एसीसीयू को मुखबिर से सेक्स रैकेट संचालित होने की खबर मिली थी। 

मुखबिर ने बताया था कि एक ब्रोकर ने सेक्स रैकेट के लिए प्रदेश के बाहर से 3 युवतियों को बुलाकर अग्रसेन धाम मोड़ स्थित वीडब्लूय कैन्यान होटल में रुकवाया है। इसके बाद रायपुर एसएसपी प्रशांत अग्रवाल ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर/अपराध अभिषेक माहेश्वरी, उप पुलिस अधीक्षक आईयूसीए डब्ल्यू ललिता मैहर और थाना प्रभारी तेलीबांधा को सूचना की तस्दीक कर आवश्यक कार्रवाई करने निर्देशित किया गया।

 जिस पर एएसपी आईयूसीएडब्ल्यू के नेतृत्व में थाना तेलीबांधा पुलिस टीम द्वारा सूचना की तस्दीक की गई.मुखबिर से मिली सूचना सही पाए जाने पर निजी होटल में जाकर चेक किया गया।

 चेकिंग कार्रवाई के दौरान 3 अलग अलग कमरों में 3 महिलायें जिनमें से 1 महिला उज्बेकिस्तान (रशियन) और 2 महिला पंजाब की निवासी उपस्थित मिले। 

महिलाओं से पूछताछ करने पर उनके द्वारा बताया गया कि एक दलाल द्वारा उन्हें होटल में बुलाकर देह व्यापार कराया जा रहा था। 

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक नहीं की गई युवतियों पर कार्रवाई

रायपुर पुलिस ने बताया है कि देह चेकिंग के दौरान पुलिस को तीन युवतियां मिली है। उनके द्वारा बताया गया है कि एक दलाल ने उन्हें बुलाया था। जिस पर आरोपी दलाल टिकरापारा निवासी धरम उर्फ राहुल के खिलाफ थाना तेलीबांधा में अपराध क्रमांक 727/22 धारा 4, 5, 7 पीटा एक्ट का केस दर्ज किया गया।

 आरोपी दलाल फरार है। जिसकी तलाशी कर गिरफ्तार करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। होटल के मैनेजर से भी पूछताछ की जा रही है।

 वहीं उच्चतम न्यायालय, नई दिल्ली द्वारा हाल ही में जारी किये गये आदेश का पालन करते हुए महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई है। महिलाओं को साक्ष्य सूची में शामिल कर उनका बयान लिया जा रहा है।

Share this story