कोरोना वैक्सीन की 11 डोज लेने वाले बिहार के बुजुर्ग पर FIR
[12:43 PM, 1/9/2022] Deekaha Shukla: मामले की जांच में जुटी पुलिस पुरैनी पुलिस स्टेशन के एसएचओ ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की तरफ से शिकायत की गई है. मामले में कार्रवाई करते हुए हमने आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. मामले की जांच की जा रही है. [12:43 PM, 1/9/2022] Deekaha Shukla: उन्होंने आगे कहा कि आरोपी ब्रह्मदेव मंडल ने 13 फरवरी, 2021 से 4 जनवरी, 2022 के बीच कई बार कोरोना वायरस वैक्सीन की 11 डोज लीं. इस दौरान उसने अलग-अलग आईडेंटिटी कार्ड्स का इस्तेमाल किया. आरोपी ने स्वास्थ्यकर्मियों को गुमराह किया है. [12:43 PM, 1/9/2022] Deekaha Shukla: इससे पहले मधेपुरा के सिविल सर्जन डॉक्टर अमरेंद्र प्रताप शाही ने कहा कि ब्रह्मदेव मंडल का दावा सही या गलत ये जांच का विषय है. हम हॉस्पिटल के रिकॉर्ड को चेक कर रहे हैं. अगर ये दावा सही पाया जाता है तो इसमें शामिल लोगों के खिलाफ एक्शन लेंगे.

बिहार।  मधेपुरा (Madhepura) में रहने वाले एक बुजुर्ग को कोरोना वायरस (Coronavirus) वैक्सीन (Vaccine) की 11 डोज लेने का दावा करना भारी पड़ गया है. मधेपुरा पुलिस (Madhepura Police) ने बुजुर्ग के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर ली है. प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की शिकायत के आधार पर बुजुर्ग के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.बता दें कि कोविड-19 वैक्सीन की 11 डोज लेने का दावा करने वाले बुजुर्ग का नाम ब्रह्मदेव मंडल है. ब्रम्हदेव मंडल मधेपुरा के पुरैनी इलाके के रहने वाले हैं. वैक्सीन की 11 डोज लेने के ब्रह्मदेव मंडल के दावे के बाद स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया. ब्रह्मदेव मंडल का दावा है जब से उन्होंने कोरोना वैक्सीन लेना शुरू किया है वो बीमार नहीं पड़े हैं. उनकी सेहत में लगातार सुधार हुआ है.

मामले की जांच में जुटी पुलिस

पुरैनी पुलिस स्टेशन के एसएचओ ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की तरफ से शिकायत की गई है. मामले में कार्रवाई करते हुए हमने आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने आगे कहा कि आरोपी ब्रह्मदेव मंडल ने 13 फरवरी, 2021 से 4 जनवरी, 2022 के बीच कई बार कोरोना वायरस वैक्सीन की 11 डोज लीं. इस दौरान उसने अलग-अलग आईडेंटिटी कार्ड्स का इस्तेमाल किया. आरोपी ने स्वास्थ्यकर्मियों को गुमराह किया है.


 

इससे पहले मधेपुरा के सिविल सर्जन डॉक्टर अमरेंद्र प्रताप शाही ने कहा कि ब्रह्मदेव मंडल का दावा सही या गलत ये जांच का विषय है. हम हॉस्पिटल के रिकॉर्ड को चेक कर रहे हैं. अगर ये दावा सही पाया जाता है तो इसमें शामिल लोगों के खिलाफ एक्शन लेंगे.

Share this story