2 अक्टूबर को जल समाधि का ऐलान करने वाले संत परमहंस दास हुए हाउस अरेस्ट
2 अक्टूबर को जल समाधि का ऐलान करने वाले संत  परमहंस दास गिरफ्तार 

उत्तर प्रदेश। अयोध्या के जगद्गुरु परमहंस को पुलिस ने  हाउस अरेस्ट कर लिया है। आचार्य परमहंस 2 अक्टूबर को देश को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग की है।उन्होंने कहा कि था कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो वो जल समाधि ले लेंगे। 2 अक्टूबर यानी आज परमहंस आश्रम में हिंदू राष्ट्र के लिए यज्ञ कर रहे है। वहां भारी संख्या में समर्थक मौजूद है जो हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे हैं।डीएसपी राजेश राय ने बताया कि  आचार्य परमहंस को जल समाधि से रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल लगाकर हाउस अरेस्ट कर दिया गया है।

भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित की जाने को लेकर तपस्वी छावनी के महंत जगतगुरु परमहंस दास ने ऐलान किया था कि वो गांधी जयंती के मौके पर जल समाधि लेंगे अगर उनकी मांग को केंद्र की मोदी सरकार पूरी नहीं करती।इस बीच तपस्वी छावनी में पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी गई है।और उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया गया है। इस बीच आज तक संवाददाता समर्थ श्रीवास्तव ने महंत परमहंस से खास बातचीत की है। 

महंत परमहंस ने कहा- जब मुस्लमानों को अलग राष्ट्र मिल सकता है तो भारत को हिंदू राष्ट्र क्यों नहीं घोषित किया जा सकता है। महंत ने ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर आरोप लगाए हैं।

बता दें कि पिछले दिनों परमंहस दास ने ऐलान किया था कि अगर 2 अक्टूबर को भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित नहीं किया गया, तो जल समाधि ले लूंगा। उनके इस ऐलान के बाद से ही यूपी पुलिस सतर्क हो गई। इससे पहले भी परमहंस दास कई बार मीडिया में सुर्खियों बटोर चुके हैं। बताते चलें कि इससे पहले भी परमहंस दास राष्ट्रपति को पत्र लिखकर इच्छामृत्यु की मांग कर चुके हैं। वहीं जब अयोध्या में भूमि विवाद का मामला गर्माया था, तो परमहंस दास ने कांग्रेस और आप पर बड़ा आरोप लगाया था।परमहंस दास ने कहा था कि आप और कांग्रेस अयोध्या में भूमि फर्जी का मामला उठाने पर 100 करोड़ रुपये देने की पेशकश की है।

महासभा के राष्ट्रीय महासचिव देवेंद्र पांडेय ने देश के पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखते हुए कहा है कि सरकार को परमहंस आचार्य की जायज मांगों को मान लेना चाहिए। यदि वे जल समाधि लेते हैं तो इसकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की होगी। जल समाधि लेने का ऐलान करने वाले संत परमहंस आचार्य का समर्थन करते हुए हिंदू महासभा ने कहा है कि पूरे देश से करीब एक लाख कार्यकर्ता परमहंस के साथ ही सरयू नदी में आत्म आहुति देंगे। इसके लिए हजारों कार्यकर्ता अयोध्या में जुटने लगे हैं।

बता दे कि इससे पहले, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत हिंदू राष्ट्र के बारे में बार-बार जोर दे चुके हैं।उन्होंने यह भी कहा कि हिंदुत्व एक ऐसा शब्द है, जो भारत की भूमि में आध्यात्मिकता-आधारित परंपराओं की निरंतरता और मूल्य प्रणाली की एक संपूर्ण संपदा के साथ-साथ हमारी पहचान को व्यक्त करता है। इसलिए, यह शब्द सभी 1.3 अरब लोगों पर लागू होता है, भागवत ने 2020 में अपने विजय दशमी भाषण के दौरान यह टिप्पणी की थी।

Share this story