अब सूर्यास्त के बाद भी यूपी के अस्पतालो में होगा पोस्टमार्टम, स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए आदेश
मंगलवार को एसीएस अमित मोहन प्रसाद ने महानिदेशक स्वास्थ्य को भेजे आदेश में कहा कि सभी अस्पतालों में रात के समय भी पोस्टमार्टम कराने की व्यवस्था की जाए। जहां व्यवस्थाएं हैं, वहां रात में पोस्टमार्टम शुरू कर दिया जाए। अन्य स्थानों पर जल्द से जल्द व्यवस्था की जाएगी।  महानिदेशक स्वास्थ्य ने बताया कि इस फैसले से मृतकों के परिजनों को राहत मिलेगी। अंग प्रत्यारोपण को भी बढ़ावा मिलेगा। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई जाएगी ताकि किसी तरह का कानूनी विवाद हो तो उसे साक्ष्य के तौर पर रखा जा सके।  हत्या, आत्महत्या, संदिग्ध मामलों, क्षत-विक्षत शव आदि का पोस्टमार्टम रात में नहीं होगा, लेकिन इन मामलों में कानून व्यवस्था से जुड़ी परिस्थितियां होने पर पैनल बनाकर पोस्टमार्टम किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश। प्रदेश में पर्याप्त बुनियादी सुविधाओं वाले अस्पतालों में अब सूर्यास्त के बाद भी पोस्टमार्टम हो सकेगा । मंगलवार को अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद की ओर से इस संबंध में आदेश जारी कर दिया गया। इस फैसले से मृतकों के परिवारीजनों व रिश्तेदारों को अब पोस्टमार्टम के लिए इंतजार नहीं करना होगा और अंग प्रत्यारोपण को भी बढ़ावा मिलेगा। केंद्र सरकार ने बीती 15 नवंबर को सूर्यास्त के बाद पोस्टमार्टम किए जाने का आदेश जारी कर अंग्रेजों के जमाने की व्यवस्था को खत्म कर दिया था।

मंगलवार को एसीएस अमित मोहन प्रसाद ने महानिदेशक स्वास्थ्य को भेजे आदेश में कहा कि सभी अस्पतालों में रात के समय भी पोस्टमार्टम कराने की व्यवस्था की जाए। जहां व्यवस्थाएं हैं, वहां रात में पोस्टमार्टम शुरू कर दिया जाए। अन्य स्थानों पर जल्द से जल्द व्यवस्था की जाएगी।

महानिदेशक स्वास्थ्य ने बताया कि इस फैसले से मृतकों के परिजनों को राहत मिलेगी। अंग प्रत्यारोपण को भी बढ़ावा मिलेगा। पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराई जाएगी ताकि किसी तरह का कानूनी विवाद हो तो उसे साक्ष्य के तौर पर रखा जा सके।

हत्या, आत्महत्या, संदिग्ध मामलों, क्षत-विक्षत शव आदि का पोस्टमार्टम रात में नहीं होगा, लेकिन इन मामलों में कानून व्यवस्था से जुड़ी परिस्थितियां होने पर पैनल बनाकर पोस्टमार्टम किया जाएगा।

Share this story